Jammu Kashmir: पुलवामा में आतंकियों से मुठभेड़ में एक जवान शहीद, एक आतंकी भी मारा गया

जम्मू-कश्मीर पिछले कुछ दिनों से जारी है आतंकियों की नापाक हरकतें, पुलवामा के हंजिन राजपोरा इलाके में सुरक्षाबल और आतंकियों के बीच मुठभेड़ अब भी जारी

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर ( Jammu Kashmir ) में बीते कुछ दिनों से लगातार आतंकियों की ओर से कायराना हरकत की जा रही है। सुरक्षबलों को खुली चुनौती दी जा रही है। स्थानीय लोगों के मन में दहशत का माहौल पैदा करने की कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में अब पुलवामा ( Pulwama ) के हंजिन राजपोरा इलाके में सुरक्षाबल और आतंकियों के बीच मुठभेड़ ( Encounter )हुई है।

इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों का एक जवान शहीद हो गया है वहीं एक आतंकी के भी मारे जाने की सूचना है। गुरुवार देर रात आतंकियों ने सुरक्षाबल के जवानों पर ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी थी, जिसका जवानों ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

यह भी पढ़ेँः जम्मू में फिर दिखे दो ड्रोन, एयरफोर्स स्टेशन से दूरी महज 10 किमी

सुरक्षाबलों को इनपुट मिला था कि इलाके में कुछ आतंकी हैं। इसके बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया। तलाशी अभियान के दौरान जैसे ही सुरक्षा बल संदिग्ध ठिकाने पर पहुंचे, आतंकियों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी।
फायरिंग शुरू होते ही सुरक्षा बल के जवानों ने भी मोर्चा संभाला और मुंहतोड़ जवाब दिया। हालांकि आतंकियों की फायरिंग में सेना के एक जवान को भी गोली लग गई थी। इलाज के दौरान वह शहीद हो गए हैं।

वहीं इस एनकाउंटर में एक आतंकी के भी मारे जाने की खबर है। मुठभेड़ अभी भी जारी है। दरअसल जवानों के इलाके में तीन से चार आंतकियों के होने की आशंका है।

यही वजह है कि इलाके के तमाम एंट्री और एग्जिट पॉइंट को बंद कर दिया गया है। दरअसल फंसे हुए आतंकियों को भागने से रोकने के लिए ये कदम उठाया गया है।

एनकाउंटर में सेना, पुलवामा पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान संयुक्त रूप से शामिल हैं।

यह भी पढ़ेँः Jammu kashmir: लगातार तीसरे दिन दिखा ड्रोन, गृहमंत्रालय ने NIA को सौंपी जांच

पहले ड्रोन अटैक फिर एसपीओ की हत्या
जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों लगातार आतंकियों की नापाक हरकतें जारी हैं। त्राल में आतंकियों ने एसपीओ फैयाज अहमद के घर में घुसकर उनके परिवार पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई थीं।
हमले में एसपीओ फैयाज की तो मौके पर ही मौत हो गई थी, बाद में इलाज के दौरान उनकी पत्नी और बेटी ने भी दम तोड़ दिया था।
इससे पहले आतंकियों ने ड्रोन अटैक के जरिए जम्मू एयरफोर्स स्टेशन को भी निशाना बनाने की कोशिश की थी। खास बात यह है कि इसके बाद से लगातार जम्मू-कश्मीर में ड्रोन गतिविधियां देखी जा रही हैं।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned