Jammu Kashmir: कुलगाम में Terrorist ने BJP Leader पर चलाईं ताबड़तोड़ गोलियां, अस्पताल में हुई मौत

  • Jammu Kashmir के Kulgam में आतंकियों ने BJP Leader और सरपंच Sajad Ahmad को मारी गोली
  • अस्पताल में पहुंचने पर हुई मौत, अब तक किसी संगठन ने नहीं ली जिम्मेदारी
  • हाल में वसीम बारी उनके पिता और भाई को भी आतंकियों ने दफ्तर में घुसकर मारा था

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) में आतंकियों ( Terrorist ) के मंसूबे एक बार फिर सामने आए हैं। आतंकियों की नजर यहां बीजेपी नेताओं ( BJP Leader ) पर टिकी हुई हैं। पिछले कुछ समय से लगातार बीजेपी नेता आतंकियों के निशाने पर हैं। ताजा मामला जम्मू-कश्मीर के कुलगाम ( Kulgam ) का है। जहां आतंकियों ने भारतीय जनता पार्टी के नेता और सरपंच सज्जाद अहमद खांडे ( Sajad Ahmad Khande ) की गोली मारकर हत्या कर दी।

इस सनसनीखेज वारदात के बाद इलाके में एक बार फिर दहशत का माहौल है। आपको बात दें कि पिछले कुछ दिनों में बीजेपी नेताओं पर लगातार हमले हो रहे हैं। वसीम बारी और उनके परिवार के दो सदस्यों को भी आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया था।

अहमदाबाद के कोरोना अस्पताल में कहीं जानबूझकर तो नहीं लगाई गई आग, अब फॉरेंसिक की टीम खोलेगी अहम राज

jk.jpg

राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर मुस्लिम संगठन के इस बड़े नेता ने दिया ऐसा बयान कि मच गया हड़कंप

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने काजीकुंड में भाजपा सरपंच सज्जाद अहमद पर उनके आवास पर फायरिंग की। इस फायरिंग के तुरंत बाद सज्जाद को नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक यह घटना गुरुवार सुबह की है। पिछले तीन दिनों में आतंकियों की ओर से सरपंच पर यह दूसरा हमला था।

दरअसल इससे पहले बीजेपी नेता सज्जाद पर आतंकी जानलेवा हमला कर चुके थे। आतंकियों ने कुलगाम जिले में ही अखरन के बीजेपी सरपंच पर हमला किया था, जिसमें सरपंच आरिफ अहमद गंभीर रूप से घायल हुए थे।

आपको बता दें कि पिछले महीने बीजेपी के पूर्व जिला अध्यक्ष वसीम बारी, उनके पिता और भाई की उनके दुकान में घुसकर आतंकियों ने उन्हें मौत के घाट उतार दिया था।

खास बात यह है कि वसीम बारी की सुरक्षा में करीब 10 पुलिसकर्मी भी तैनात थे, लेकिन इस कड़ी सुरक्षा के बीच आतंकियों ने वारदात को अंजाम दिया था।

हमले के वक्त ये सभी पुलिसकर्मी वहां मौजूद नहीं थे, हत्याकांड के बाद इन सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था। दरअसल माना जा रहा था कि पुलिसकर्मियों को पहले ही आतंकियों ने ड्यूटी से हटने की सूचना दे दी थी।

इस हमले की आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट ने जिम्मेदारी ली थी। पुलिस ने बताया था कि ये जैश, लश्कर और हिजबुल का मोर्चा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ये संगठन पाकिस्तान को फाइनेंशियल ऐक्शन टास्क फोर्स की कार्रवाई से बचाने के लिए बनाया गया।

वसीम बारी ही नहीं इसके अलावा आतंकियों ने 8 जून को कश्मीरी पंडित सरपंच की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आतंकियों ने जिले के लारकीपुरा इलाके के सरपंच और कांग्रेस नेता अजय पंडित की उनके गांव में हत्या कर दी।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned