Farmer Protest: किसान मोर्चा ने कल ट्रेन रोकने की तैयारी की, रेलवे सतर्क

Highlights

  • किसान संगठनों ने कल प्रस्तावित रेल रोको आंदोलन को सफल बनाने की अपील की।
  • एसकेएम के अनुसार कि यह संघर्ष और भी तेज हो सकता है।

नई दिल्ली। दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन को तीन माह पूरे हो चुके हैं। किसान तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने पर अड़े हुए हैं। वहीं सरकार कानून को संशोधन पर सहमत है। इस बीच आज संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने कहा है कि आने वाले समय में हमारा संघर्ष और तेज होगा। किसान संगठनों ने कल प्रस्तावित रेल रोको आंदोलन को सफल बनाने की अपील की।

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को लेकर BMC परेशान, आम जनता के बीच पहुंची मुंबई की मेयर

एसकेएम के अनुसार हमने जेपी नड्डा की भाजपा की उच्च स्तरीय बैठक में हरियाणा, यूपी, पंजाब और राजस्थान के नेताओं और अन्य लोगों के साथ बैठक को संज्ञान में लिया।

मोर्चा के अनुसार यह स्पष्ट है कि भाजपा चल रहे संघर्ष की मांगों को हल करने के बजाय, उसका मुकाबला करने और उसे नष्ट करने की कोशिश कर रही है। एसकेएम सत्ता पक्ष के इस रवैये की निंदा करता है।

संयुक्त किसान मोर्चा इस बात की मांग करता है कि केंद्र सरकार बिना किसी और देरी के किसानों की समस्या का हल करे। एसकेएम के अनुसार कि यह संघर्ष और भी तेज हो सकता है। इसके समर्थन में अधिक किसान जुटेंगे।

रेल रोको कार्यक्रम

संयुक्त किसान मोर्चा के अनुसार कल 18 फरवरी को देशभर में रोल रोको कार्यक्रम में सभी से शांति पूर्वक प्रदर्शन का आग्रह किया जाता है। दोपहर 12 से 4 बजे तक रेल रोकने का कार्यक्रम है जिसमे देशभर से समर्थन की उम्मीद है।

रेलवे की तैयारी

किसानों के रेल रोको आंदोलन की अपील के बीच रेलवे ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। रेलवे ने पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल पर ध्यान केन्द्रित करने के साथ ही देशभर में रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 20 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned