शहीद की पत्नी ने पूरा किया सपना, एक ही बार में एक्जाम पास कर बनी लेफ्टिनेंट

शहीद की पत्नी ने पूरा किया सपना, एक ही बार में एक्जाम पास कर बनी लेफ्टिनेंट

मृत सैनिक पति का सपना पूरा करने लिए पत्नी बनी लेफ्टिनेंट।

नई दिल्ली। एक पत्नी ने अपने मृतक सैनिक पति का ख्वाब पूरा करने के लिए वो कर डाला जो सब के लिए कर पाना बहुत मुश्किल है। महिला ने अपने सैनिक पति के सपनों को पूरा किया और लेफ्टिनेंट बन चुकी है। जी हा ये कहानी है सैनिक रविंद्र सिंह संब्याल की पत्नी नीरू संब्याल की। नीरू चेन्नई के ऑफिसर ट्रेनिंग अकेडमी में एन बैच के कई अफसरों के साथ ट्रेनिंग ली है।

नीरू 2 माउंटेन ड्यू रेजिमेंट का हिस्सा हैं

इस दौरान उनके चेहरे पर खुशी और गर्व का भाव साफ दिख रहा था। अब वह नीरू संब्याल लेफ्टिनेंट बन चुकी हैं। वह अब 2 माउंटेन ड्यू रेजिमेंट का हिस्सा हैं और असम में रेजिमेंट ज्वाइन करने वाली हैं। बता दें कि नीरू के पति भारतीय सेना में थे। चोट की वजह से उनकी मृत्यु हो गई थी। तब से उनके अंदर अपने पति का सपना पुरा करने की आग थी। उन्होंने बताया कि उनके पति के बदिलाद ने उन्हें मिलिट्रि में आने के लिए प्रेरित किया।

2017 में रवींद्र सिंह संब्याल से नीरू की शादी हुई थी

आपको बता दें कि 2017 में रवींद्र सिंह संब्याल से नीरू की शादी हुई थी। लेकिन शादी के तीन साल के अंदर ही काम के दौरान लगी एक चोट की वजह से रवींद्र की मौत हो गई थी। नीरू ने बताया कि पति का रेजिमेंट उन्हें परिवार की तरह हमेशा मदद करता रहा। उन्होंने कहा कि मेरे ना रहने पर भी ये लोग मेरी बेटी के लिए हमेशा खड़े रहेगे।

नीरू एक ही बार में एक्जाम क्लियर कर बनी लेफ्टिनेंट

नीरू ने बताया कि उनकी चार साल की बेटी है। उसका नाम सनिध्या राजपूत है। उन्होंने बताया कि ट्रेनिंग के दौरान उन्होंने बेटी को काफी मिस किया। अपनी बेटी से अलग होना काफी मुश्किल भरा था। शुरुआती एक-दो महीने काफी कठिन रहे। नीरू ने कहा कि वे चाहती हैं कि उनकी बेटी मजबूत बने और अपने सैनिक माता-पिता पर गर्व करें। बता दें कि नीरू एक ही बार में एक्जाम पास कर लेफ्टिनेंट बनी हैं।

 

Ad Block is Banned