Lockdown 2.0: गैस आधारित परियोजनाओं पर 20 अप्रैल से काम शुरू करेगी गेल इंडिया लिमिटेड

  • कोरोना की रोकथाम के मद्देनजर लागू लॉकडाउन में सोमवार से कुछ राहत प्रदान की जाएगी
  • GAIL हाइड्रोकार्बन बुनियादी ढांचे से जुड़ी परियोजनाओं पर 20 अप्रैल से काम शुरू करेगी

नई दिल्ली। गेल इंडिया लिमिटेड ( Gayle India Limited ) गैस आधारित अर्थव्यवस्था के विस्तार को सक्षम करने के लिए महत्वपूर्ण हाइड्रोकार्बन बुनियादी ढांचे से जुड़ी परियोजनाओं पर 20 अप्रैल से काम शुरू करने वाली है।

दरअसल, कोविड-19 ( COVID-19 ) के प्रकोप ने विश्व के विभिन्न देशों के साथ ही भारत की अर्थव्यवस्था ( Economy of India ) पर भी विपरीत प्रभाव डाला है।

देश की सभी बड़ी आर्थिक गतिविधियां ठप ( economic activities ) पड़ने की वजह से अर्थव्यवस्था चरमराई हुई है।

इस बीच प्राकृतिक गैस की पाइप से आपूर्ति सुनिश्चित करने वाली सरकारी कंपनी गेल का कहना है कि कोविड-19 महामारी ( coronavirus ) की वजह से हुए लॉकडाउन के बीच जो काम का नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई करने के लिए सभी परियोजनाओं पर 20 अप्रैल से काम शुरू हो जाएगा, ताकि वे समय रहते पूरी हो सकें।

बता दें कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार ने आगामी 20 अप्रैल से कुछ चुनिंदा क्षेत्रों में सशर्त काम शुरू करने के लिए मंजूरी दी है।

लॉकडाउन 2.0: देश के 300 जिलों में कल से छूट की संभावना, जानें कहां नहीं मिलेगी ढील

 

yt_1.jpg

राज्यों में स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों के सहयोग से 20 अप्रैल, 2020 से लघु से लेकर मध्यम अवधि के उपायों की शुरुआत की जाएगी।

कंपनी ने सभी संबंधित सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए लॉकडाउन अवधि के दौरान विभिन्न साइटों/शिविरों में काम कर रहे प्रवासी मजदूरों के निरंतर रहने की व्यवस्था की है।

भारत सरकार द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों के अनुपालन में परियोजना स्थलों और कार्य केंद्रों पर मास्क के उपयोग को बढ़ावा देने, स्वच्छता और सामाजिक दूरी जैसे मानदंडों को सुनिश्चित करने के लिए विस्तृत एसओपी/प्रोटोकॉल भी तैयार किए गए हैं।

Weather Updates: दिल्ली में तेज हवा के साथ बारिश, तापमान में आई गिरावट

 

a_2.jpg

दिल्ली: डॉक्टर ने किया सुसाइड, AAP विधायक के खिलाफ आत्महत्या को उकसाने का केस दर्ज

गेल ने उर्वरक, बिजली, रिफाइनरी और सिटी गैस वितरण जैसी महत्वपूर्ण सेवाओं के लिए निर्बाध आपूर्ति बनाए रखी है।

कंपनी का प्रबंधन नोडल मंत्रालय के साथ नियमित से संपर्क में है।

परिचालन प्रतिबद्धता सुनिश्चित करने के अलावा गेल और उसके कर्मचारी कोरोनावायरस के कारण पैदा हुए संकट के बीच आर्थिक मदद के लिए भी खड़े रहे हैं। कंपनी व इसके कर्मचारियों ने इस बीमारी से लड़ने के लिए पीएम केयर फंड में 54 करोड़ रुपयों का योगदान दिया है।

coronavirus Coronavirus in China
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned