लॉकडाउन: एम्स के पूर्व डॉक्टर नरिंदर मेहरा का दावा, कोरोना से भारत में इसलिए नहीं बढ़ेगा डेथ रेट

  • भारत में डाइवर्सिटी ज्यादा होने से इम्युन रिस्पॉन्स अच्छा
  • भारतीयों का इम्युनिटी लेवल यूरोपीय लोगों से ज्यादा मजबूत
  • हल्दी, अदरक और मसाले वाला खाना इम्युनिटी लेवल में करता है इजाफा

नई दिल्ली। कोरोना का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है। लॉकडाउन लागू होने के बावजूद भारत में कोरोना मरीजों की संख्या कम नहीं हो रहा है। इस बीच आईसीएमआर के पूर्व चेयरमैन और एम्स इम्यूनोलॉजी के पूर्व डीन डॉ. नरिंदर मेहरा का कोरोना से होने वाली मौत को लेकर बड़ा दावा भारतीयों के लिए राहत देने वाली बात है। उनका दावा है कि भारत में बाकी देशों की तुलना में डेथ रेट नहीं बढ़ेगीे।

इसके पीछे उन्होंने की भारतीयों का ब्रोड बेस इन्युनिटी सिस्टम अच्छा होना बताया है। इसलिए चीन, इटली, स्पेन और अमेरिका की तरह भारत में डेथ रेट नहीं बढ़ेगी।

कोरोना के खिलाफ अलर्ट मोड में केजरीवाल सरकार, थर्ड स्टेज के लिए बनाई 5 डॉक्टरों की टीम

कोरोना को लेकर डॉ. नरिंदर मेहरा का कहना है कि आम तौर पर किसी भी वायरल इंफेक्शन के बाद लिंफोसाइट काउंट बढ़ जाता है लेकिन कोविड-19 के हमले में बॉडी का लिंफोसाइट काउंट नीचे चला जाता है। लिंफोसाइट काउंट गिरने से कोरोना पीड़ित व्यक्ति की मौत हो जाती है। लिंफोसाइट्स सफेद रक्त कोशिकाएं हैं जो शरीर की मुख्य प्रकार की प्रतिरक्षा कोशिकाओं में से एक हैं।

डॉ. मेहरा के मुताबिक भारत इम्युनिटी में अन्य देशों की तुलना में अच्छा है। एम्स में हुई एक स्टडी में सामने आया है कि भारत में डाइवर्सिटी ज्यादा होने की वजह से इम्युन रिस्पॉन्स जीन यानी वह जीन जो इम्युनिटी को गाइड करते हैं वो यूरोपियन देशों की तुलना में मजबूत हैं। प्रति व्यक्ति से प्रति व्यक्ति और जनसंख्या से जनसंख्या इम्युनिटी डाइवर्सिटी काफी ज्यादा है।

लॉकडाउन पर आगे बढ़ने से पहले पीएम मोदी ने तैयार कर लिया था इमरजेंसी प्लान

उन्होंने कोरोना से भारत में कम मौतों के पीछे तीन वजह बताई है। पहला फिजिकल डिस्टेंसिंग, दूसरा इम्यून सिस्टम और तीसरा यहां का वातावरण। इसके अलावा भारतीयों के खाने में शामिल हल्दी, अदरक और मसाले वाला खाना भी हमारी इम्युनिटी में इजाफा करता है।

आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस तेजी से अपने पैर पसार रहा है। वर्तमान में यह सेकेंड स्टेज में है। अब तक भारत में कोरोना वायरस के 606 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना से 12 मौत भी हो चुकी है। कोरोना के संकट को रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन जारी है। लॉकडाउन पीरियड 14 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा।

coronavirus Coronavirus Outbreak
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned