महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष ने शिवसेना पर कसा तंज, पिंजरे में बंद बाघ से दोस्ती नहीं करना चाहते

भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने दिए संकेत, महाराष्ट्र में अगामी नगर निकाय चुनाव में भाजपा अकेले लड़ने को तैयार।

पुणे। महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने बीते दिनों अपने बाघ वाले बयान पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उनकी पार्टी पिंजरे में कैद बाघ से दोस्ती नहीं करना चाहती है। अपने जन्मदिन के मौके पर पाटिल ने ये संकेत दिया है कि आगामी नगर निकाय के चुनाव में भाजपा अकेले लड़ने पर प्राथमिकता देगी।

Read More: केंद्र सरकार ने Padma Award के लिए जनता से मांगे सुझाव, जानिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि

2022 की शुरुआत में चुनाव

साल 2022 की शुरुआत में मुंबई, पुणे और अन्य प्रमुख शहरों में नगर निगम चुनाव होने वाले हैं। इससे पहले पाटिल ने बताया था कि वे एक कार्यक्रम में गए थे। यहां वन्यजीव क्षेत्र में काम कर रहे, एक स्वयंसेवक ने उन्हें बाघ की प्रतिकृति एक उपहार के रूप में दी थी। तब उन्होंने कहा था कि वे हमेशा बाघ के दोस्त रहेंगे। इस बयान पर कयास लगाए जा रहे थे कि भाजपा आने वाले दिनों में शिवसेना के करीब जा सकती है।

पाटिल के बीते बयान से अटकलें तेज हो गईं कि भाजपा अपने पुराने सहयोगी शिवसेना संग मिलकर चुनाव लड़ेगी। वह फिलहाल कांग्रेस और राकांपा के साथ महाराष्ट्र की सत्ता पर आसीन है।

Read More: कर्नाटक : बेंगलुरु सहित 20 जिले अनलॉक, सोमवार से चलेंगे ऑटो और कैब, सर्शत उद्योग और परिधान इकाइयों को अनुमति

मोदी देश और भाजपा के शीर्ष नेता

बीते दिनों महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच दिल्ली में हुई मुलाकात के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को कहा था कि मोदी देश और भाजपा के शीर्ष नेता हैं। राउत से मीडिया ने पूछा कि ऐसी खबरें सामने आई हैं कि आरएसएस चुनावी राज्यों में राज्य के नेताओं को चेहरे के रूप में पेश करने पर विचार कर रहा है। ऐसे में क्या उन्हें लगता है कि मोदी की लोकप्रियता कम हुई है। इस पर राउत ने कहा कि बीते सात साल में भाजपा की सफलता का श्रेय मोदी को जाता है। वह अभी देश और पार्टी के शीर्ष नेता हैं। इस बयान से भी भाजपा और शिवसेना के बीच मतभेद खत्म होने के संकेत मिल रहे हैं।

BJP
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned