scriptMUMBAI: first woman IAS officer Anna Rajam Malhotra is passes away | देश की पहली महिला IAS अधिकारी अन्ना राजम मल्होत्रा का निधन, मुंबई में होगा अंतिम संस्कार | Patrika News

देश की पहली महिला IAS अधिकारी अन्ना राजम मल्होत्रा का निधन, मुंबई में होगा अंतिम संस्कार

सोमवार को भारत की पहली महिला IAS अधिकारी अन्‍ना राजम मल्‍होत्रा का मुंबई के अंधेरी स्थित उनके आवास पर निधन हो गया।

नई दिल्ली

Updated: September 18, 2018 08:44:49 pm

नई दिल्ली। आजाद भारत की पहली महिला IAS अधिकारी अन्‍ना राजम मल्‍होत्रा अब हमारे बीच नहीं रहीं। सोमवार को मुंबई के अंधेरी स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। अन्ना राजम मल्होत्रा ने देश के कई महत्वपूर्ण पदों पर जिम्मेदारी निभाई और देश की प्रगति में अपना योगदान दिया। बता दें कि मिली जानकारी के मुताबिक वह 91 वर्ष की थीं। मल्होत्रा का अंतिम संस्कार मुंबई में किया जाएगा।

देश की पहली महिला IAS अन्ना राजम मल्होत्रा का निधन, मुंबई में होगा अंतिम संस्कार

जीवन परिचय

आपको बता दें कि अन्‍ना राजम मल्होत्रा का जन्म जुलाई 1927 में केरल के एर्नाकुलम जिले में हुआ था। उनकी प्रारंभिक शिक्षा कोझिकोड में हुआ जिसके बाद मद्रास विश्‍वविद्यालय में उच्‍च शिक्षा के लिए वह चेन्‍नर्इ में शिफ्ट हो गईं। अन्ना राजम मल्‍होत्रा ने 1951 में देश की पहली महिला के तौर पर सिविल सर्विसेज को ज्‍वाइन की और मद्रास कैडर का विकल्‍प चुना। उन्‍होंने तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री सी राजगोपालाचारी के नेतृत्‍व में मद्रास राज्‍य की सेवा की। फिर कुछ समय बाद परिवारिक जीवन शुरू करते हुए आरएन मल्‍होत्रा से शादी की जो 1985 से 1990 तक भारत के रिजर्व बैंक के गर्वनर रहे।

नहीं रहे यह दिग्गज अभिनेता, सेना की नौकरी छोड़कर बने थे एक्टर

कई अहम पदों पर देश की सेवा की

आपको बता दें कि अन्ना राजम ने कई विभागों के महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुए देश की सेवा की। मुंबई के पास देश के आधुनिक बंदरगाह जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (जेएनपीटी) की स्थापना में उनका प्रमुख योगदान रहा। जेएनपीटी के कार्यान्‍वयन के दौरान वह इसकी अध्यक्ष थीं। केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्ति के दौरान उन्‍हें जेएनपीटी का प्रभार मिला। इसके अलावे जब 1982 में दिल्ली में एशियन खेलों का आयोजन हुआ तो तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के साथ मिलकर उन्होंने बड़ी जिम्मेदारी निभाई। साथ ही केंद्रीय सेवा में नियुक्ति के दौरान केंद्रीय गृह मंत्रालय में सेवा की थी। जब वह रिटायर हो गईं तो बाद में होटल लीला वेंचर लिमिटेड के डायरेक्टर पद पर काम किया। अन्ना राजम की इन्हीं खुबियों, कार्यप्रणाली और दुरदर्शिता को देखते हुए 1989 में उन्‍हें पदम भूषण अवार्ड से सम्‍मानित किया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Gyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी में शिवलिंग के दावे के बीच आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई कोExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंGood News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दाअफगानिस्तान में तालिबान का नया फरमान- महिला टीवी एंकर चेहरा ढककर पढ़ें खबरअमेरिकी राष्ट्रपति Biden के लिए महाराष्ट्र और आंध्र से गिफ्ट में जाएंगे आमसीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.