पाकिस्तान के काल्पनिक नक्शे पर एनएसए Ajit Doval का सख्त रूख, रूस ने भी लगाई झाड़

  • एससीओ बैठक में पाकिस्तान ने किया काल्पनिक नक्शे का इस्तेमाल
  • एनएसए Ajit Doval ने दिया मुंह तोड़ जवाब, किया बैठक का ही बहिष्कार
  • रूस ने भी पाकिस्तान के इस रवैये पर लगाई झाड़

नई दिल्ली। पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। भारत के खिलाफ आतंक फैलाने के साथ-साथ साजिश रचने में भी पाकिस्तान लगातार जुटा हुआ है, लेकिन भारत की ओर से भी उसे हर बार मुंह की ही खानी पड़ती है। एक बार फिर पाकिस्तान ने शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन की राष्ट्रीय सलाहकारों की वर्चुअल बैठक में अपनी नापाक हरकत का नमूना पेश किया।

बैठक में पाकिस्तान की तरफ से अपने प्रतिनिधि के पीछे एक विवादित नक्शा लगाया गया था। इस नक्शे को देखते हुए भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और प्रतिनिधि अजीत डोभाल ( Ajit Doval ) ने बैठक का बायकॉट कर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे डाला।

समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन को मिला बॉलीवुड का साथ, जानें क्या बोले सितारे

चीन के खास चहीते पाकिस्तान ने एससीओ बैठक के दौरान एक बार फिर अपनी वफादारी साबित करने के लिए एक काल्पनिक नक्शा प्रस्तुत कर दिया। बैठक में इस नक्शे के सामने आते ही भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने मीटिंग का बायकॉट कर पाकिस्तान के साथ-साथ दुनिया को भी साफ संदेश दे दिया कि भारत किसी के आगे झुकने या समझौता करने के मूड में नहीं है।


डोभाल के नेतृत्व वाला भारतीय प्रतिनिधिमंडल के पाकिस्तान के नक्शे का जोरदार विरोध किया। अजीत डोभाल की सख्ती और रूस की झाड़ के बाद इस्लामाबाद के होश ठिकाने आ गए।

पाकिस्तान ने किया था नया नक्शा जारी
अगस्त के महीने में ही पाकिस्तान ने एक नया नक्शा जारी किया था। इस नक्शे में पूरे जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया था। इसी नक्शे को एससीओ की बैठक में पाकिस्तान के प्रतिनिधि के पीछे प्रयोग किया गया था।

देश में टूटा कोरोना वायरस का कहर, 50 लाख के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या

रूस ने भी लगाई पाकिस्तान को झाड़
पाकिस्तान के काल्पनिक नक्शे के इस्तेमाल और उसके बाद भारत के एनएसए की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया के बाद रूस ने भी सख्त रुख अपनाया। रूस ने भी पाकिस्तान के इस रवैये को लेकर उसे झाड़ लगाई।


आपको बता दें कि ये वही नक्शा है जिसे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद में पास करा लिया था और इमरान खान ने ये भी कहा था कि इस नक्शे को उनके देश के लोगों और राजनीतिक पार्टियों ने समर्थन देकर पास कराया है। इस नक्शे में पाकिस्तान ने लद्दाख को भी पाकिस्तान का हिस्सा बताया है।
बहरहाल सवाल ये उठता है कि पाकिस्तान ने अपने इस काल्पनिक नक्शे को आखिर एससीओ की बैठक के दौरान क्यों इस्तेमाल किया।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned