कोरोना के नए मामलों के चलते सरकार ने यहां लगाया लॉकडाउन, फिर भी सड़कों पर सैर करने निकले लोग

  • Coronavirus के नए मामलों ने Maharashtra सरकार की बढ़ाई चिंता
  • औरंगाबाद के बाद अब नागपुर में भी लगा लॉकडाउन
  • जरूरत की चीजों को छोड़कर सबकुछ रहेगा बंद

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) का खतरा लगातार बढ़ रहा है। एक तरफ सरकार वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) के जरिए दावे कर रही है कि देश में कोरोना पर काबू किया जा रहा है, लेकिन दूसरी तरफ कई राज्यों में नए मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। खास तौर पर महाराष्ट्र ( Coronavirus in Maharashtra ) में कोविड-19 की दूसरी लहर ने कई इलाकों में मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। सिर्फ पुणे की बात करें तो यहां 3200 नए मामले सामने आने से प्रशासन और सरकार सकते में हैं।

जबकि नागपुर में भी 15 मार्च से एक हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। बावजूद लापरवाही का आलम यह है कि बड़ी संख्या में लोग लॉकडाउन के पहले ही दिन यानी सोमवार को सुबह सैर करने सड़कों पर निकल आए।

यह भी पढ़ेंः कोरोना का खौफ: महाराष्ट्र और पंजाब के बाद अब इस राज्य में भी स्कूल बंद

एक दिन में सबसे ज्यादा केस
महाराष्ट्र में कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में राज्य में कोविड-19 के 16,620 नए मामले सामने आए, जो कि इस साल एक दिन में सामने आए सर्वाधिक नए मामले हैं।

संक्रमितों की संख्या 23 लाख के पार
यही नहीं राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 23 लाख 14 हजार के पार पहुंच गई है, जबकि पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के चलते 50 लोगों की मौत हो गई।

इसी के साथ राज्य में इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 52,861 हो गई।

पुणे में डरा रहे बढ़ते केस
महाराष्ट्र के बड़े शहरों में शुमार पुणे में कोरोना के नए मामलों की रफ्तार ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। बीते दो दिन में यहां तेजी से नए केसेस में इजाफा हुआ है। सिर्फ एक दिन में अकेले पुणे से 3,267 केस सामने आए है।
वहीं यहां कोरोना के कारण 25 लोगों की मौत हो गई।

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में भी कोरोना के 1023 नए मरीज मिले। तेजी से बढ़ रहे आंकड़ों को देखते हुए यहां अस्पतालों में बेड बढ़ाने के निर्देश दे दिए गए हैं।

नागपुर में सिर्फ इनको मिली मंजूरी
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नागपुर में 15 से 21 मार्च तक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। इस दौरान इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं बंद रहेंगी।

एक हफ्ते के लॉकडाउन के दौरान सब्जी, दूध और अति आवश्‍यक चीजों की आपूर्ति जारी रहेगी। नागपुर पुलिस कमिश्नर के अतंर्गत जितने इलाके आते हैं वहां पर लॉकडाउन लगाया गया है।

लॉकडाउन के बाद भी सैर करने निकले लोग
नागपुर में भले ही सरकार ने एक हफ्ते का लॉकडाउन लगा दिया हो, लेकिन पहले लोग हैं कि मानते ही नहीं। सोमवार सुबह लॉकडाउन के बावजूद लोग सड़कों पर सैर करने निकले। मॉर्निंग वॉक करते हुए लोगों को आसानी से देखा जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः देशभर के कई राज्यों में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ी, दिल्‍ली-पंजाब में मामले बढ़े

आपको बता दें कि औरंगाबाद में भी वीकेंड पर लॉकडाउन लगाया गया है। यहां शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन है। वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा की तारीख भी आगे बढ़ा दी गई है।

ये परीक्षा 14 मार्च को होनी थी, लेकिन राज्य के कई जिलों में कोरोना के चलते बंदिशें लागू हैं जिसे ध्‍यान में रखते हुए परीक्षा को फिलहाल टाल दिया गया है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned