कोरोना की तीसरी लहर की आहट के बीच एक्शन में पीएम मोदी, 6 राज्यों के सीएम के साथ करेंगे वर्चुअल मीटिंग

कोरोना के तीसरी लहर की चिंता के बीच पीएम मोदी छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) की दूसरी लहर का असर अब खत्म भी नहीं हुआ कि तीसरी लहर को लेकर आहट तेज हो गई है। कुछ रिपोर्ट में तो दावा भी किया जा चुका है कि देश में तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। दूसरी लहर ने भी देश में जमकर तबाही मचाई थी, यही वजह है कि अब सरकार तीसरी लहर को किसी भी कीमत पर हल्के में लेने के मूड में नहीं है।

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को लेकर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Modi ) भी अलर्ट मोड पर हैं। यही वजह है कि वे लगातार राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर अपडेट ले रहे हैं और जरूर कदम उठाने के लिए भी कह रहे हैं। एक बार फिर पीएम मोदी शुक्रवार को 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत करेंगे। इस दौरान कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा होगी।

यह भी पढ़ेँः वाराणसी के बाद अब इस राज्य को पीएम मोदी देने जा रहे हैं बड़ा गिफ्ट, जानकर आप भी रह जाएंगं दंग

इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से होगी पीएम की चर्चा
पीएम मोदी कोरोना से जंग के बीच शुक्रवार को जिन 6 राज्यों के सीएम से चर्चा करेंगे उनमें तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र और केरल शामिल है। प्रधानमंत्री की यह बैठक सुबह 11 बजे से होगी।

हाल में पूर्वोत्तर राज्यों से सीएम की चर्चा
दरअसल इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वोत्तर के आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों से भी कोरोना के हालातों को लेकर चर्चा की थी। दरअसल अन्य राज्यों में जहां कोरोना के केस कम हो रहे हैं, वहीं पूर्वोत्तर के राज्यों में इनकी संख्या बढ़ रही है, जो चिंता बढ़ाने वाला संकेत है, लिहाजा पीएम ने इन मुख्यमंत्रियों के साथ कोविड के हालातों और उससे निपटने की रणनीति पर चर्चा की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि हिल स्टेशन, मार्केट में बिना मास्क और प्रोटोकॉल के बिना भारी भीड़ का उमड़ना ठीक नहीं है। यह हमारे लिए चिंता का विषय है।

वायरस को बताया था बहरूपिया
पीएम ने कहा था कि कोरोना वायरस एक बहरूपिया, इसके हर वेरिएंट पर नजर रखना जरूरी है। म्यूटेशन के बाद ये कितना परेशान करेगा इसका आंकलन एक्सपर्ट्स लगातार कर रहे हैं। लेकिन इसकी रोकथाम में हमें किसी भी तरह की ढ़िलाई नहीं बरतनी है।

वैक्सीनेशन पर दिया जोर
पीएम मोदी ने चर्चा के दौरान ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन पर जोर दिया। पीएम ने कहा कि ‘सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन’ अभियान की पूर्वोत्तर में भी उतनी ही अहमियत है जितनी अन्य राज्यों में।

यह भी पढ़ेँः देश में 4 जुलाई को ही कोरोना की तीसरी लहर ने दी दस्तक! टॉप वैज्ञानिक ने किया दावा

देश में कोरोना का हाल
देश में गुरुवार को 41 हजार 806 नए मामले सामने आए जिसमें से 28 हजार 691 मामले उन्हीं राज्यों से हैं, जिनके साथ प्रधानमंत्री शुक्रवार को चर्चा कर रहे हैं।

केरल में 13 हजार 773, महाराष्ट्र में 8 हजार 10, आंध्र प्रदेश में 2 हजार 526, तमिलनाडु में 2 हजार 405, ओडिशा में 2 हजार 110 और कर्नाटक में 1 हजार 977 मामले सामने आए हैं।

Coronavirus in india
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned