हिंद महासागर में चीन की दादागिरी रोकने के लिए कल मीटिंग करेंगे भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमरीका

छह अक्टूबर को होगा भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमरीका की मीटिंग
चीन के खिलाफ कई मुद्दों पर हो सकती है चर्चा, सभी देश हैं चीन से नाराज

एशिया महाद्वीप में अपने पड़ौसी देशों को लेकर चीन की बढ़ती आक्रामकता तथा अवैध गतिविधियों के बीच भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमरीका के विदेश मंत्री छह अक्टूबर को दूसरी मंत्रीस्तरीय मीटिंग करेंगे। पहली मंत्रीस्तरीय बैठक गत वर्ष न्यूयॉर्क में हुई थी। यह मीटिंग ऐसे समय में होने जा रही है जब चीन हिंद-प्रशांत क्षेत्र और यूरेशियाई क्षेत्रों पर प्रभुत्व जमाने के लिए सैन्य शक्ति तथा अन्य कूटनीतिक दांवों का प्रयोग कर रहा है।

Rahul Gandhi का पलटवार : बीजेपी विधायक के इस बयान को बताया संघ की पुरुषवादी मानसिकता

अर्जुन बिजलानी की पत्नी नेहा स्वामी हुई कोरोनावायरस से ग्रस्त, पांच साल के बच्चे के साथ परिवार हुआ अलग-थलग

6 अक्टूबर को होने वाली यह मीटिंग QUAD के तहत टोक्यो में होगी। इस मीटिंग में भारतीय विदेश मामलों के मंत्री एस. जयशंकर, जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी, ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मारिस पायने तथा अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भाग लेंगे। उल्लेखनीय है कि QUAD के सभी चार सदस्यों के विरूद्ध चीन ने किसी न किसी तरह से मोर्चा खोल रखा है। क्वाड समूह इंडो-पैसिफिक एरिया की सुरक्षा को चीन से किसी भी प्रकार के संभावित खतरे को ध्यान में रखने हुए इस क्षेत्र पर अपनी नजर रखे हुए हैं।

Unlock 5.0: आज से कहां और क्या खुल रहा है, यह रही पूरी जानकारी

विदेश मंत्री 6 अक्टूबर से जापान यात्रा पर
इस मीटिंग में भाग लेने के लिए भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर छह अक्टूबर को जापान की दो दिवसीय यात्रा पर रवाना होंगे। इस यात्रा के दौरान वह मीटिंग के साथ ही जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी से भी मिलेंगे और भारत-जापान के बीच द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने के तरीकों पर भी चर्चा करेंगे।

QUAD समूह क्या है?
क्वाड समूह चार लोकतांत्रिक देश भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया तथा अमरीका का एक समूह है जो मिलिट्री लॉजिस्टिक्स सपोर्ट, एक्सरसाईज तथा सूचना के माध्यम से आपसी सहयोग को बढ़ावा देता है।

QUAD समूह की इस मीटिंग को लेकर चीन ने निशाना साधा है। संभावना जताई जा रही है कि इस मीटिंग के बाद विदेश मंत्रियों की एक बैठक के बाद नवंबर माह में भी एक और मीटिंग हो सकती है। हाल ही में 26 सितंबर को इन चारों देशों के विदेश मंत्री संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के दौरान भी मिले थे। ग्रुप के सदस्य देशों में कोरोना महामारी तथा इसके पीछे चीन की भूमिका पर भी चर्चा हो सकती है। इस मीटिंग में 5G टेक्नोलॉजी, साइबर सिक्योरिटी, समुद्री सुरक्षा तथा आतंकवाद निरोधी अभियानों को लेकर भी चर्चा की जाएगी।

QUAD के चारों सदस्य देशों से उलझा हुआ है चीन
उल्लेखनीय है कि अमरीका पहले से ही कोरोना को लेकर चीन पर आरोप लगा रहा है कि इस बीमारी पर विश्व को अंधेरे में रखा। इसके अलावा भारत के साथ चीन का सीमा पर तनाव चल रहा है। जापान के साथ भी चीन समुद्री सीमा को लेकर आक्रामकता दिखा रहा है और समुद्र में कृत्रिम द्वीपों का निर्माण कर अपनी सीमा बढ़ाने के प्रयासों में लगा हुआ है। इसी तरह ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध भी चीन ने एकतरफा कदम उठाए हैं जिनसे वहां की सरकार तथा नागरिक नाराज है।

Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned