शिवसेना की NCP सांसद को सलाह, सत्ता के अंगूर को खट्टा न करें

अमोल कोल्हे ने शनिवार को एक सार्वजनिक मंच पर कहा था कि शरद पवार के आशीर्वाद के कारण ही उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने हुए हैं।

नई दिल्ली। एनसीपी सांसद अमोल कोल्हे के बयान से नाराज शिवसेना ने कहा है कि वे एनसीपी और शिवसेना के बीच में जहर घोलने का प्रयास न करें। शिवसेना प्रवक्ता किशोर कान्हेरे ने एक बयान देते हुए कहा कि राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत दादा पवार और दस्तूर शरद पवार महाराष्ट्र की सत्ता संभालने के लिए लगातार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि दोनों दलों की एकता के कारण जो सत्ता का अंगूर मिला है, कोल्हे उसे खट्टा न करें।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस में कलह: अभी खत्म नहीं हुआ कैप्टन और सिद्धू का किस्सा, सीएम बोले- पहले माफी मांगो, तब होगी कोई बात

उल्लेखनीय है कि अमोल कोल्हे ने शनिवार को एक सार्वजनिक मंच पर कहा था कि शरद पवार के आशीर्वाद के कारण ही उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने हुए हैं। अमोल पहले शिवसेना के साथ थे, बाद में मतभेद होने पर उन्होंने एनसीपी ज्वॉइन कर लिया था। अमोल कोल्हे पर व्यंग्य करते हुए शिवसेना प्रवक्ता ने कहा कि उनके मेमोरी टेस्ट का समय आ गया है। वह यह भी भूल गए हैं कि वह उद्धव ठाकरे के आशीर्वाद की वजह से ही राजनीति में है। कान्हेरे ने आगे कहा कि कोल्हे एक अभिनेता है और लिखे हुए संवाद पढ़ने की आदत रखते हैं।

यह भी पढ़ें : मुंबई में कई घंटों तक लगातार भारी बारिश, राजस्थान, यूपी, दिल्ली, हरियाणा में भी तेज बारिश की चेतावनी

पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है। हाल ही में शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ मीटिंग की थी। इसके राजनीतिक अर्थ निकाले गए थे। इसके अलावा शिवसेना ने भी मोदी की प्रशंसा करते हुए उनसे अपना संबंध बताया था। इन सभी बातों को देखते हुए राजनीतिक विशेषज्ञ महाराष्ट्र में होने वाले किसी बड़े उलटफेर का अंदाजा लगा रहे हैं। अब यह देखना रुचिकर होगा कि राज्य की राजनीति का ऊंट किस करवट बैठेगा।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned