शर्मनाक: लॉकडाउन में खुली थी दुकान, बंद कराने पहुंचे पुलिसकर्मियों पर फेंका खौलता तेल

कोरोना संकट के दौर में कुछ लोगों की लपारवाही उनके साथ-साथ दूसरों पर भी भारी पड़ रही है। ऐसे में जब पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी उन्हें समझाने पहुंचते हैं, तो वे उनके साथ अभद्रता तो करते ही हैं, कई बार हमला भी कर देते हैं।

 

नई दिल्ली।

कोरोना (Coronavirus) संकट से जूझ रहे बिहार में राज्य सरकार ने लॉकडाउन घोषित कर रखा है। इसके लिए सख्त गाइडलाइन भी जारी की गई है। पुलिस और प्रशासन इस गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने के लिए मैदान में डटे हुए हैं। मगर कई लोग ऐसे भी हैं, जिनकी लपारवाही उनके साथ-साथ दूसरों पर भी भारी पड़ रही है। ऐसे में जब पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी उन्हें समझाने पहुंचते हैं, तो वे उनके साथ अभद्रता तो करते ही हैं, कई बार हमला भी कर देते हैं। ऐसा ही एक मामला बिहार के बांका जिले से सामने आया है।

बांका जिले में लॉकडाउन के दौरान एक व्यक्ति ने अपनी दुकान खोल रखी थी। पुलिसकर्मी जब दुकान बंद कराने पहुंचे तो इस व्यक्ति ने पुलिसकर्मियों पर खौलता हुआ तेल फेंक दिया। इस घटना में थानाध्यक्ष समेत चार लोग बुरी तरह झुलस गए हैं।

यह भी पढ़ें:- अलर्ट मोड पर सरकार, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में मिले कोरोना वायरस के तेजी से फैलने वाले स्ट्रेन!

मामला बांका जिले के बौंसी थाना स्थित श्याम बाजार का है। यहां पुलिस को सूचना मिली कि श्याम बाजार में लॉकडाउन का उल्लंघन कर कुछ दुकानें निर्धारित समय के बाद भी खुली हैं। इस सूचना के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी दुकान बंद कराने बाजार में पहुंचे। यह टीम जब दुकानदारों को समझाते हुए दुकान बंद करने के निर्देश दे रही थी, तभी चाय-नाश्ते की दुकान चलाने वाले गणेश पंडित ने कड़ाही में खौल रहा तेल पुलिसकर्मियों पर फेंक दिया। अचानक हुए इस हमले से थानाध्यक्ष राजकिशोर सिंह और दो पुलिसकर्मी बुरी तरह झुलस गए। इसके बाद जब हटिया संचालक लालन सिंह दुकानदार गणेश को समझाने के लिए पहुंचे तो उसने उन पर भी जलती लकड़ी से हमला कर दिया।

यह भी पढ़ें:- स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने किया ट्वीट, बताया- ब्लैंक फंगस से कैसे निपटें, क्या करें और क्या नहीं

स्थिति गंभीर होती देख थानाध्यक्ष राजकिशोर सिंह ने अतिरिक्त फोर्स बुला ली, जिसके बाद चार थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और सभी दुकानों को बंद कराकर आरोपी गणेश पंडित और उसके पुत्र को गिरफ्तार कर लिया। हमले में घायल सभी लोगों का रेफरल अस्पताल में इलाज हुआ। आरोपी पिता-पुत्र पर हत्या का प्रयास और महामारी एक्ट जैसी गंभीर धाराओं में चालान कर जेल भेज दिया गया है।

COVID-19 virus
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned