स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए उमड़ा जनसैलाब, सड़कों पर लगा 10 किमी लंबा ट्रैफिक जाम

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए उमड़ा जनसैलाब, सड़कों पर लगा 10 किमी लंबा ट्रैफिक जाम

Anil Kumar | Publish: Nov, 10 2018 09:34:40 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 09:34:41 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ को देखने के लिए शनिवार को हजारों की संख्या में लोग पहुंचे।

नर्मदा। गुजरात में नर्मदा नदी के तट पर बनी दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ को देखने के लिए शनिवार को हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। देखने वालों की संख्या इतनी अधिक थी के सड़कों पर 10 किलोमीटर तक लंबा ट्रैफिक जाम लग गया। दरअसल दीपावली के कारण छुट्टियां होने की वजह से ज्यादा से ज्यादा लोग 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ देखने के लिए यहां पहुंचे हैं। एक अनुमान के मुताबिक बताया जा रहा है कि शनिवार को करीब 30 हजार से ज्यादा सैलानी सरदार बल्लभभाई पटेल की मूर्ति को देखने के लिए पहुंचे। बता दें कि गुजरात सरकार ने नर्मदा के तट पर सरदार बल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाई है, जिसका अनावरण पीएम मोदी ने बीते 31 अक्टूबर को किया था। 31 अक्टूबर को बल्लाभभाई पटेल की जन्म जयंती के अवसर पर देश को इसे समर्पित किया गया।

video: सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर पुलिस बैण्ड कीे राष्ट्रभक्ति धुनों पर पुलिस के जवानों मार्च पास्ट किया

10 किलो मीटर तक लगा लंबा ट्रैफिक जाम

आपको बता दें कि देश को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी समर्पित करने के एक हफ्ते बाद सैलानियों की भीड़ उमड़ रही है। आलम यह है कि सड़कों पर 10 किलोमीटर तक लंबा ट्रैफिक जाम लग गया। शनिवार को सरदार पटेल की 182 लंबी स्टैच्यू देखने के लिए सरदार सरोवर नर्मदा निगम के ऑफिस पर टिकट लेने वालों की लंबी-लंबी कतारें देखने को मिलीं। बताया जा रहा है कि 30 हजार से भी अधिक सैलानी स्टैचू ऑफ यूनिटी देखने के लिए पहुंचे। यह मूर्ति नर्मदा जिले के केवड़िया टाउन में बनाया गया है।

video : सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म शताब्दी को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया

मूर्ति देखने के लिए सरकार का नया नियम

आपको बता दें कि शनिवार को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई है लेकिन भारी संख्या में सैलानियों के पहुंचने से अफरा-तफरी का भी माहौल देखने को मिला। इस समस्या से निपटने के लिए सरकार ने एक नया नियम लाया है। नए नियम के मुताबिक मूर्ति देखने आने वाले सैलानियों को अपने वाहन बाहर खड़े करने होंगे और बस से अंदर जाना होगा। बताया जा रहा है कि महज 10 दिन के अंदर सरदार सरोवर निगम को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से 50 लाख रुपये से ज्यादा की कमाई हो चुकी है।

श्रावस्ती में स्थापित हुई सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा, भाजपा सांसद ने किया अनावरण

एक दिन में पांच हजार लोग ही देख सकेंगे

सरकार की ओर से बताया गया है कि एक दिन में केवल पांच हजार लोग ही स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के विविंग गैलरी में जा सकेंगे और पूरे नर्मदा सरोवर को देख सकेंगे। इसलिए सैलानी अपने टिकट और विजिट समय करने के टाइम को पहले से ही बुक करा लें। लेकिन इसके बावजूद भी भारी संख्या में सैलानी पहुंच रहे हैं, जिन्हें विविंग गैलरी देखे बिना ही वापस लौटना पड़ रहा है। दीपावली के दिन यहां पर 16 हजार पर्यटक आए थे, जबकि भाईदूज के दिन 20 हजार सैलानी पहुंचे। तो वहीं शनिवार को यह संख्या 30 हजार पहुंच गई।

सरदार पटेल की जयंती पर प्रतिभाओं का किया सम्मान

सोमवार को रहेगा बंद

सरकार ने घोषणा करते हुए बताया है कि सोमवार को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को मेंटेनेंस के लिए बंद रखा जाएगा। इसलिए इस दिन किसी भी सैलानी को अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। बता दें कि विदेश या दूर-दराज से आने वाले सैलानियों के ठहरे के लिए पूरी व्यवस्था की गई है। इसके लिए बकायदा पास में ही टेंट सिटी बनाई गई है, जिसमें 250 से भी ज्यादा टेंट है।

Ad Block is Banned