Twitter ने हटाया राहुल गांधी का ट्वीट, शेयर की थी दिल्ली रेप पीड़िता की पहचान

दिल्ली रेप पीड़िता के माता-पिता की तस्वीर शेयर करने वाले राहुल गांधी के ट्वीट को Twitter ने किया डिलीट, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने की थी कार्रवाई की मांग

नई दिल्ली। दिल्ली ( Delhi ) में नाबालिग से रेप और फिर हत्या मामले में लगातार सियासत जारी है। वहीं इस मामले में अब ट्वीटर ने भी बड़ी कार्रवाई की है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) के जिस ट्वीट को लेकर हंगामा मचा हुआ था, अब उस ट्वीट पर ट्विटर ( Twitter ) ने कार्रवाई की है।

ट्विटर ने रेप विक्टिम की पहचान उजागर करने वाले राहुल गांधी के ट्वीट को हटा दिया है। दरअसल, दिल्ली के नांगल गांव में एक 9 साल की बच्ची की कथित तौर पर रेप के बाद हत्या कर दी गई थी। राहुल गांधी मृत बच्ची के परिवार से मिलने गए थे। इसके बाद उन्होंने माता-पिता के साथ अपनी तस्वीर ट्वीट की थी।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली: दलित परिवार से मिलने पहुंचे केजरीवाल का विरोध, भाषण के दौरान मंच से गिरे

ये है पूरा मामला
दिल्ली में नाबालिग लड़की के साथ कथित रेप और दुष्कर्म की घटना के बाद सियासी दल पीड़ित परिवार से मिल रहा था। इसी कड़ी में कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी मिलने पहुंचे। इस मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने अपनी एक तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल से साझा की थी।

इस तस्वीर में कांग्रेस नेता पीड़िता के माता-पिता नजर आ रहे थे। ट्वीटर की इस पोस्ट के बाद राहुल गांधी पर आरोप लगा कि उन्होंने रेप पीड़िता की पहचान को उजागर किया है।

इस मामले में बीजेपी ने तो राहुल गांधी पर निशाना साधा ही साथ ही राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने ट्विटर से शिकायत की थी और कहा था कि राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल के खिलाफ कार्रवाई करें। इसी विरोध के बीच अब ट्वीटर ने एक्शन लिया है।

आयोग ने ट्विटर को चिट्ठी में ये लिखा
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने राहुल गांधी के ट्वीट पर कार्रवाई करने से संबंधित जो चिट्ठी ट्विटर को लिखी थी, उसमें कहा था कि किसी भी नाबालिग पीड़िता के परिवार की तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट करना किशोर न्याय कानून, 2015 की धारा 74 और बाल यौन अपराध रोकथाम कानून (पॉक्सो) की धारा 23 का उल्लंघन है। इस पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए।

बीजेपी ने उठाए थे सवाल
राहुल गांधी के ट्वीट को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने भी कड़ा एतराज जताया था। पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा था कि इस ट्वीट के लिए राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ( NCPCR ) को इसका संज्ञान लेना चाहिए। पात्रा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मृतक बच्ची के माता-पिता की पहचान सार्वजनिक कर कानूनी प्रावधानों का घोर उल्लंघन किया है।

यह भी पढ़ेंः दिल्लीः श्मशान घाट में 9 साल की बच्ची से गैंगरेप के बाद किया अंतिम संस्कार, पुजारी समेत 4 गिरफ्तार

राहुल ने ट्वीट में ये लिखा था
राहुल गांधी ने उस ट्वीट में लिखा था कि 'माता-पिता के आंसू सिर्फ एक बात कह रहे हैं- उनकी बेटी, देश की बेटी न्याय की हकदार है और न्याय के लिए इस रास्ते पर मैं उनके साथ हूं।'

बता दें कि दिल्ली के नांगला इलाके में एक 9 वर्षीय बच्ची की श्मशान में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी। परिजनों का आरोप है कि बच्ची की रेप के बाद हत्या की गई है।

वहीं इस आरोप में गिरफ्तार पुजारी का दावा है कि बच्ची की मौत करंट लगने से हुई है। बच्ची के शव का आनन-फानन में अंत्येष्टि कराने की कोशिश से पुजारी सवालों के घेरे में है।

BJP
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned