उत्तर भारत में ठंड का सितम अपने चरम पर, श्रीनगर में जम गया डल झील का पानी

- राजधानी दिल्ली ( Delhi Weather ) में ठंड ने दिसंबर के महीने में 100 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है

- कश्मीर ( Kashmir ) में तापमान माइनस में जा चुका है

श्रीनगर। पूरे उत्तर-भारत ( North India ) में ठंड ( Cold ) का सितम अपने चरम पर है। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी ( Snowfall ) की वजह से तापमान अब माइनस में जाने लगा है। इसका असर मैदानी इलाकों में भी देखने को मिल रहा है। मैदानी इलाकों में भी तापमान 5 डिग्री से नीच पहुंच गया है। दिल्लू, यूपी, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और मध्यप्रदेश ये वो राज्य हैं, जहां शीतलहर की वजह से लोगों की जान पर बन आई है। इन राज्यों ठंडी हवाओं का दौर चल पड़ा है। मौसम विभाग की मानें तो ये सिलसिला अभी दिसंबर के आखिरी तक और उसके बाद आधे जनवरी तक जारी रह सकता है। कई सालों के बाद ऐसा हुआ है कि दिसंबर महीने में इतनी कड़ाके की ठंड पड़ी है।

 

dal_lake.jpeg

कश्मीर में जम गई डल झील

जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में भी तापमान माइनस में जा चुका है। ठंड का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि श्रीनगर की डल झील का पानी जम चुका है। कश्मीर में सिर्फ डल झील ही नहीं बल्क कई जलस्त्रोतों में पानी बर्फ की चादर में तब्दील हो चुका है। जम्मू और श्रीनगर के दिन के तापमान में सिर्फ दो डिग्री सेल्सियस का अंतर है। जम्मू में दिन का तापमान 10.8 डिग्री सेल्सियस, जबकि श्रीनगर का 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

लेह में -18 डिग्री पहुंचा तापमान

वहीं, लेह गुरुवार को सबसे ठंडा रहा। यहां न्यूनतम तापमान माइनस 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा उत्तराखंड में भी आठ शहरों में न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकार्ड किया गया। वहीं, चमोली के जोशीमठ और कुमाऊं के मुक्तेश्वर में पारा शून्य से नीचे पहुंच गया है। हिमाचल में भी छह स्थानों में तापमान जमाव बिंदु से नीचे रहा।

राजस्थान के कुछ इलाकों में दिखी बर्फ की चादर

वहीं मैदानी इलाकों में भी हालात काफी ज्यादा खराब हैं। राजस्थान के कुछ इलाकों में ठंड इस कदर पड़ रही है कि रास्तों पर ही बर्फ की सफेद चादर दिखाई दे रही है। इसके अलावा खेतों में भी बर्फ जम गई है। भारतीय मौसम विभाग ने गुरुवार बताया कि उत्तर भारत अभी दिसंबर के आखिर तक ठंडी हवाओं की गिरफ्त में रहेगा। राजधानी दिल्ली में इस साल दिसंबर में ठंडी हवाओं का लंबा दौर चला है। मौसम विभाग ने बताया कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में ठंडे दिनों का दौर 29 दिसंबर तक बने रहने का अनुमान है। राजस्थान के कई जिलों में तापमान शून्य से नीचे चला गया है। सीकर में बीती रात तापमान माइनस 3 डिग्री पहुंच गया।

इसलिए जारी है सर्दी का सितम

मध्य प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में भी ठंडे दिनों का दौर रह सकता है। दिल्ली के ज्यादातर मौसम स्टेशनों पर लगातार 12 दिन से अत्यधिक ठंड रिकॉर्ड की जा रही है। साल 1997, 1998, 2003 और 2014 में भी अत्यधिक ठंड का ऐसा दौर चला था। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर पश्चिम की ओर आने वाली ठंडी हवाएं नीचे की ओर बह रही हैं, इसलिए इस क्षेत्र में अत्यधिक ठंड का प्रकोप बना हुआ है। 15 दिसंबर से उत्तर भारत के कई राज्यों में अत्यधिक ठंड की स्थिति है। 25 दिसंबर को सबसे ज्यादा ठंड दर्ज की गई थी।

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned