हाफिज सईद और मसूद अजहर पर शिंकजा कसने को भारत उठाने जा रहा बड़ा कदम

हाफिज सईद और मसूद अजहर पर शिंकजा कसने को भारत उठाने जा रहा बड़ा कदम

  • 'गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) संशोधन विधेयक-2019' (UAPA) लोकसभा में पारित
  • नए संशोधन अंतरराष्ट्रीय मानकों और संयुक्त राष्ट्र कनवेंशन के अनुसार होगा
  • हाफिज सईद और मसूद अजहर पर कसेगा शिकंजा

नई दिल्ली। भारत ने आतंकी हाफिज सईद और मसूद अजहर के मामले मे एक और बड़ा कदम उठाने का फैसला किया है। ये पहली बार होगा जब हाफिज सईद और मसूद अजहर आतंकवादी घोषित किए जाने वाले पहले मोस्ट वांटेड होंगे। अंतरराष्ट्रीय मानकों और संयुक्त राष्ट्र कनवेंशन के अनुसार देश के आतंकवाद विरोधी कानून में बड़े संशोधन के बाद ऐसा हो सकेगा।

देश के आतंकवाद विरोधी कानून में प्रस्तावित संशोधनों के प्रभाव में आने के बाद हाफिज सईद और मसूद अजहर आतंकवादी घोषित किए जाने वाले पहले मोस्ट वांटेड होंगे। सरकार ने कहा है कि प्रस्तावित नए संशोधन अंतरराष्ट्रीय मानकों और संयुक्त राष्ट्र कनवेंशन के अनुसार होंगे।

अमरीका में इमरान के दावे: पाक पीएम का बड़बोलापन या सोची-समझी चाल

hafiz

यात्रा पर प्रतिबंध लगाया जा सकेगा

गौरतलब है कि 'गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) संशोधन विधेयक-2019' (UAPA) को लोकसभा ने बुधवार को पारित कर दिया है।इसे अब चर्चा के लिए राज्यसभा में भेजा जाएगा। अगर इसे संसद की स्वीकृति मिल जाती है तो आतंकवादी घोषित किए जाने वाले की यात्रा पर प्रतिबंध लगाया जा सकेगा। इसके साथ उनकी संपत्ति भी जब्त की जा सकेगी।

इमरान खान ने अमरीका में डिजाइनर कपड़े पहने या नहीं, कई डिजाइनरों के दावे पर पाकिस्तान में छिड़ा विवाद

क्या है कानून में

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गृह मंत्रालय के अनुमोदन के बाद किसी व्यक्ति को आतंकवादी घोषित किया जा सकेगा। इस प्रकार घोषित किया गया आतंकवादी केंद्रीय गृह सचिव के समक्ष अपील कर सकेगा। वह इस पर 45 दिनों के भीतर फैसला करेंगे। इसके लिए एक कार्यरत या सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक समीक्षा समिति का गठन किया जाएगा। इसमें भारत सरकार की ओर से कम से कम दो सेवानिवृत्त सचिव शामिल होंगे। आतंकी घोषित होने के बाद सरकार उनकी संपत्ति को करने का कदम उठाया जा सकेगा।

masood

आंकड़े दूसरे देशों की सरकारों से साझा होंगे

एक अन्य अधिकारी के अनुसार बताया कि प्रस्तावित कानून के तहत क्या कदम उठाए जा सकते हैं, इसका ब्योरा तभी आ सकेगा जब यह विधेयक संसद से पारित हो जाएगा। जिसे भी आतंकवादी घोषित करना है, उससे संबंधित आंकड़े दूसरे देशों की सरकारों से साझा किए जा सकेंगे।

इमरान खान का एक साल: फिसड्डी साबित हुआ नया पाकिस्तान का दावा, हर मोर्चे पर फेल हुई सरकार

पाक में मौजूद हाफिज सईद वर्ष 2008 के मुंबई आतंकी हमले का मास्टर माइंड रहा है और मसूद अजहर वर्ष 2001 में संसद हमले व हाल में हुए पुलवामा हमले का मुख्य साजिशकर्ता है। प्रस्तावित कानून अंतरराष्ट्रीय मानकों और संयुक्त राष्ट्र के सम्मेलन के अनुरूप होगा। अधिकारी ने कहा कि आतंकवादी के रूप में किसी की पैरवी केंद्रीय गृह मंत्रालय की मंजूरी के बाद ही होगी।

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned