'ईरान संकट' पर चर्चा करने सऊदी अरब-UAE की यात्रा पर अमरीकी विदेश मंत्री, किंग से की मुलाकात

'ईरान संकट' पर चर्चा करने सऊदी अरब-UAE की यात्रा पर अमरीकी विदेश मंत्री, किंग से की मुलाकात

Shweta Singh | Publish: Jun, 24 2019 01:53:54 PM (IST) | Updated: Jun, 24 2019 06:49:34 PM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • US-Iran Tension पर बातचीत के लिए सऊदी दौरे पर अमरीकी विदेश सचिव
  • ईरान से बढ़ते तनाव और वैश्विक संगठन के निर्माण पर होगी अहम चर्चा

रियाद। अमरीका और ईरान के बीच तनाव ( US-Iran Tension ) लगातार बढ़ता जा रहा है। दुनियाभर के कई देश इस पर अपनी चिंता जाहिर कर रहे हैं। यही नहीं, जापानी पीएम शिंजो आबे ने तो दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने की भी कोशिश की। हालांकि, अभी भी दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधरने का नाम नहीं ले रहे। इसी बीच, इस मसले को सुलझाने के प्रयासों के लिए अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ( us foreign secretary mike pompeo ) , सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के दौरे पर हैं।

सऊदी किंग से मिले पोम्पियो

इस दौरान उन्होंने सऊदी के किंग से मुलाकात की। दोनों ने एक दूसरे का अभिवादन किया। हैंडशेक करते हुए किंग ने पोम्पियो को अपना 'अच्छा दोस्त' कहा। पोम्पियो ने जेद्दाह स्थित उनके महल में मुलाकात की। बता दें कि UAE रवाना होने से पहले पोम्पियो सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद सलमान से भी मुलाकात करेंगे।

'ईरान संकट' पर होगी बात

रविवार को पोम्पियो 'ईरान संकट' पर बात करने के लिए इस यात्रा पर पहुंचे हैं। दौरे से पहले पोम्पियो ने एक ट्वीट भी किया। अपने पोस्ट में उन्होंने लिखा कि सऊदी अरब-UAE के साथ बात करके हम वैश्विक संगठन का निर्माण सुनिश्चित करेंगे। पोम्पियो ने लिखा, 'मैं आज बाहर जा रहा हूं। यात्रा का पहला पड़ाव सऊदी अरब और UAE होगा। ईरान की ओर से पेश की गई चुनौती में ये दोनों ही हमारे बड़े सहयोगी हैं। हम उनके साथ बात करेंगे और सभी का एक रणनीतिक रूप से वैश्विक गठबंधन बनना सुनिश्चित करेंगे।'

US-Iran Tension: ईरान को दुनिया के नक्शे से मिटाना चाहता है अमरीका ?

Donald Trump And Crown Prince Salman

US-ईरान तनाव का असर अब भारत पर, ड्रोन अटैक के बाद रद्द हुईं नेवार्क-मुंबई हवाई सेवा

क्राउन प्रिंस सलमान और ट्रंप की बातचीत

बता दें कि इससे पहले भी अमरीका की ओर से ईरान मुद्दे पर सऊदी अरब से बातचीत की गई है। सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान अल सऊद से फोन पर इस बारे में चर्चा की थी। यही नहीं, ईरान ने भारत समेत कई देशों से इस मुद्दे पर बातचीत कर चुका है।

इस तरह बढ़ा दोनों देशों में विवाद

इस तनाव की शुरुआत तब हुई जब बीते साल मई में हुई थी, जब अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान परमाणु समझौते से अलग करने का अप्रत्याशित फैसला लिया था। ईरान, अमरीका के इस फैसले से काफी नाराज हुआ था। इसके बाद कभी फारस की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हमला तो कभी जासूसी ड्रोन पर हमले के बाद दोनों देशों के रिश्तों में कड़वाहट बढ़ती जा रही है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned