मंगल ग्रह की मिट्टी लाने की तैयारी में NASA और ESA

Highlights

  • अमरीका की स्पेस एजेंसी NASA ने ESA के साथ मिलकर मंगल से मिट्टी और सैंपल लाने की तैयारी में है।
  • 2030 के दशक तक इसमें सफलता मिल सकती है।

वॉशिंगटन। अमरीका की स्पेस एजेंसी NASA (नेशनल ऐरोनॉटिक्स ऐंड स्पेस ऐडमिनिस्ट्रेशन) पहली बार मंगल ग्रह से धरती पर सैंपल लाने तैयारी में जुट गई है।

धरती पर वैज्ञानिक इन सैंपल पर शोध में जुटे हुए हैं। NASA ने हाल में एक रिपोर्ट जारी कर सूचना दी है कि यूरोपियन स्पेस एजेंसी (ESA) संग वह मार्स सैंपल मिशन (Mars Sample Mission, MSR) को अंजाम देगी। वैज्ञानिक मंगल के सैंपल्स पर शोधकार्य जारी है। वह यह जानना चाहते हैं कि क्या कभी मंगल के इतिहास में जीवन रहा था।

Coronavirus: फाइजर और बायोटेक का दावा, वैक्सीन से महामारी का होगा खात्मा

कई साल तक की गई समीक्षा

NASA के अनुसार एजेंसी ने MSR Independent Review Board (IRB) स्थापित किया है। इसका काम है ESA के साथ मिलकर किसी और ग्रह से सैंपल लाने का आकलन किया है।

एजेंसी के MSR प्लान की समीक्षा के बाद बोर्ड की रिपोर्ट में NASA को आगे काम करने के लिए अनुमति दी है। बयान के अनुसार कई साल तक एजेंसी की योजना की समीक्षा के बाद IRB का कहना है कि अब NASA MSR के लिए तैयार है। यह मंगल पर रोबॉटिक एक्सप्लोरेशन का अगला कदम होगा।

इसी साल जुलाई में लॉन्च किया NASA का मंगल 2020 Perseverance Rover अब अपने आधे रास्ते को तय कर चुका है। यह मंगल की चट्टानों और मिट्टी से सैंपल को एकत्र करता है। बयान के अनुसार Perseverance पर एक सैंपलिंग सिस्टम है जिसमें कोरिंग ड्रिल और सैंपल ट्यूब लगे हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned