Myanmar में सैन्य शासन के खिलाफ अमरीका की बड़ी तैयारी, एमईसी और एमईएचएल पर प्रतिबंध के संकेत

म्यांमार में सैन्य तख्तापलट के खिलाफ जो बाइडेन प्रशासन ने सख्त कदम उठाने के संकेत दिए हैं। यूएस ट्रेजरी विभाग के अधिकारियों ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

 

नई दिल्ली। म्यांमार सैन्य तख्तापलट के खिलाफ अमरीकी सरकार ने बड़ी कार्रवाई के संकेत दिए हैं। इस योजना के तहत जो बाइडेन प्रशासन की म्यांमार सेना द्वारा नियंत्रित दो प्रमुख कंपनियों पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की योजना है। इन कंपनियों को सेना ने तख्तापलट के बाद अपने कब्जे में ले लिया था।

2 कंपनियों को ब्लैकलिस्ट में डालने की तैयारी

न्यूज एजेंसी रायटर के मुताबिक जो बाइडेन प्रशासन ने म्यांमार इकोनॉमिक कॉर्पोरेशन ( MEC ) और म्यांमार इकोनॉमिक होल्डिंग्स लिमिटेड ( MEHL ) को ब्लैकलिस्ट करने की तैयारी शुरू कर दी है। फिलहाल अमरीका में दोनों संगठनों से जुड़ी संपत्तियों को फ्रीज कर दिया गया है।

इन कंपनियों को एक फरवरी को सेना ने चुनी हुई लोकतांत्रिक सरकार को तख्तापलट के जरिए बर्खास्त करने के बाद अपने कब्जे में ले लिया था। तखतापलट के दौरान सेना ने नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू की सहित कई नागरिक नेताओं को गिरफ्तार भी किया था। जबकि सू की पार्टी ने भारी बहुमत से चुनाव जीता था।

सू की पार्टी पर धांधली का आरोप

सेना ने सू की पार्टी ने धांधली के जरिए चुनाव जीतने का आरोप लगाया था। सेना के इस दावे को चुनाव पर्यवेक्षकों ने खारिज करते हुए कहा था कि चुनाव के दौरान कोई अनियमितता नहीं हुई थी।

हिंसक कार्रवाई में 275 की मौत

बता दें कि एक फरवरी को सैन्य तख्तापलट की घटना का लोकतंत्र समर्थकों ने विरोध किया था। लोगों के विरोध को म्यांमार की सेना से कुचल दिया था। सेना की कार्रवाई में कम से कम 275 लोग मारे गए थे।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned