कोरोना वायरस का इलाज करेगी मलेरिया की दवा, अमरीका ने दी मंजूरी

  • खतरनाक कोरोना वायरस ने 160 से अधिक देशों को अपनी चपेट में ले लिया
  • अमरीका ने मलेरिया की दवा को कोरोना के उपचार के लिए मंजूरी दे दी है

नई दिल्ली। चीन के वुहान से निकले खतरनाक कोरोना वायरस ( coronavirus ) ने 160 से अधिक देशों को अपनी चपेट में ले लिया है।

दुनिया भर में कोरोना ( Corona Infection ) के अब तक 194,516 मरीज मिले हैं, जबकि इस जानलेवा बीमारी से 7,892 लोगों की मौत हो चुकी है।

हालांकि अभी तक इस जानलेवा बीमारी की वैक्सीन नहीं बन पाई है, लेकिन इस बीच अमरीका ने मलेरिया की दवा को कोरोना ( Coronavirus in US ) के उपचार के लिए मंजूरी दे दी है।

कोरोना वायरस: विदेश में भारतीय नागरिक की पहली मौत, ईरान में संक्रमित शख्स ने तोड़ा दम

 

ff_1.png

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जानकारी देते हुए बताया कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन नामक एक मलेरिया और गठिया की दवा कोरोना वायरस के इलाज में कारगर साबित हुई है।

इसलिए इस दवाई को मंजूरी दे दी गई है। ट्रंप ने कहा कि इलाज के दौरान इस दवा ने काफी अच्छे परिणाम दिए हैं।

निर्भया को न्याय: पवन जल्लाद ने फांसी के लिए नापा दोषियों का वजन, लीवर खिंचते ही फंदे पर लटके पुतले

 

s1_2.png

आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी से अब अमरीका के सभी 50 राज्य प्रभावित हैं। वेस्ट वर्जीनिया में संक्रमण का पहला मामला समाने आया।

वेस्ट वर्जीनिया के गवर्नर जिम जस्टिस ने कहा, "हम जानते थे कि ऐसा होने वाला है।" एक रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूयॉर्क सिटी ने कहा कि वह सैन फ्रांसिस्को बे एरिया की तरह लॉकडाउन पर विचार कर रहा है।

कोरोना वायरस: चीन से जीता पर सिंगापुर से हारा कोरोना वायरस, जानें कैसे छोटे से मुल्क ने जानलेवा कारोना को हराया

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned