scriptUproar over not getting token for fertilizer, farmers in line for hour | मुरैना में खाद के लिए टोकन नहीं मिलने पर हंगामा, सुबह से लाइन में लगे थे किसान | Patrika News

मुरैना में खाद के लिए टोकन नहीं मिलने पर हंगामा, सुबह से लाइन में लगे थे किसान

लाइन में लगे किसानों को खाद के लिए टोकन 2 दिसंबर को देने बुलाया। व्यवस्था से भड़के किसान।

मोरेना

Published: November 30, 2021 04:04:29 pm

मुरैना. मध्य प्रदेश में खाद को लेकर किसानों को राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। चंबल अंचल में खाद को लेकर शुरू हुई किल्लत महीनेभर बाद भी जस बनी हुई है। प्रदेश सरकार के दावे हकीकत में दिखाई नहीं रहे है। प्रशासन ने किसानों को खाद देने के लिए टोकन व्यवस्था लागू तो कर दी पर घंटों लाइन में लगे महिला पुरुषों का धैर्य तब जवाब दे गया जब उनसे कहा गया कि टोकन दो दिसम्बर को दिए जाएंगे। कई घंटो तक कतार में खड़े किसान भड़ गए और हंगामा कर दिया।
untitled.png
हंगामा मुरैना कृषि उपज मंडी में सुबह शुरू हुआ जब सरकारी गोदामों पर यूरिया और डीएपी खाद के लिए किसानों पहुंच गए और लाइन में खड़े हो गए। घंटो लाइन में बिताने के बाद जब खाद के लिए टोकन मांगे तो उनसे कहा गया कि 2 दिसंबर को टोकन मिलेगें। उसके बाद किसानों ने हंगामा शुरू कर हंगामा बढ़ता देख मौके पर पुलिस पहुंच गई। बाद में मंडी के अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों ने किसानों को समझाकर मामला शांत कराया।
Must See: भृष्टाचार करने वाले अधिकारी, कर्मचारी बख्से नहीं जाएंगे

इससे पहले कैलारस में किसान अनाज मंडी में खाद वितरण केंद्रों पर जब दोपहर तक खाद वितरण नहीं हुआ तो किसानों के सब्र का बांध टूट गया और गुस्साएं किसानों ने एम एस रोड पहाडग़ड़ तिराहे पर जाम लगा दिया। प्रशासन और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जाम लगने की सूचना मिलते ही तहसीलदार कैलारस भरत कुमार व नगर निरीक्षक वेदेन्द्र कुशवाह मय पुलिस बल के मौके पर पहुंचे लेकिन किसान किसी भी हालत में मानने तैयार नही थे और दोपहर दो बजे से चार बजे तक सडक़ पर जाम लगाकर बैठे रहे।
Must See: टाइगर स्टेट के वन मंत्री का बेतुका बयान कहा - साल में कम से कम 40-45 टाइगर मरने चाहिए

किसानों में ग्रामीण महिला किसानों की संख्या भी काफी रही। प्रशासन को स्थिति को संभालने के लिए चिंनोनी, टेंटरा, पहाडग़ड़, जौरा थाने से पुलिस बल बुलाना पड़ा। मौके पर जौरा एसडीओपी मानवेन्द्र सिंह भी पहुंचे, काफी समझाया लेकिन किसान खाद दिलाने की मांग करते रहे। बाद में एसडीएम सबलगढ़ एल के पांडे ने जाम लगा रहे किसानों के बीच पहुंचकर उन्हें शुक्रवार से खाद वितरण शुरू करने का आश्वासन दिया। तब जाकर किसानों ने जाम खोला।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानइलाहाबाद हाईकोर्ट: ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, कोर्ट के आदेश पर स्थान सरंक्षित, 20 को होगी अगली सुनवाईIPL 2022 DC vs PBKS Live Updates : दिल्ली ने पंजाब को जीत के लिए दिया 160 रनों का लक्ष्यBJP कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की हत्या के मामले में CBI ने TMC विधायक को किया तलब49 डिग्री के हाई तापमान से दिल्ली बेहाल, अब धूलभरी आंधी के आसार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.