scriptनए साल में अगर अमीर बनने का ले रहे संकल्प तो यहां समझिए धन बढ़ाने के 8 गोल्डन रूल्स | 8 Golden rules for wealth creation it will make you richest | Patrika News

नए साल में अगर अमीर बनने का ले रहे संकल्प तो यहां समझिए धन बढ़ाने के 8 गोल्डन रूल्स

locationनई दिल्लीPublished: Jan 01, 2024 08:22:50 am

Submitted by:

Shaitan Prajapat

अगर आप अमीर बनाना चाहते है तो नए साल के मौके पर इस प्रकार से संकल्प ले सकते है। आप वेल्थ क्रिएशन के ये 8 गोल्डन रूल्स के बारे में जान सकते है कि कहां पर और कितना निवेश करना है।

8-golden-rules00_2.jpg

दिसंबर खत्म हो गया और नए साल 2024 का आगाम हो गया है। नए साल के मौके पर लोग कई प्रकार के संकल्प लेते है। कोई बुरी आदत छोड़ने का संकल्प लेते है तो अमीर बनने का। अगर अगले साल धनवान होना चाहते है तो आपके लिए पेश है वेल्थ क्रिएशन के आठ गोल्डन रूल्स। निवेश करना हॉलिडे के लिए प्लानिंग करने जैसा है। यदि आप बिना डेस्टिनेशन तय किए यात्रा पर निकलते हैं तो उस यात्रा का कोई मतलब नहीं है। ठीक वैसे ही फाइनेंशियल प्लानिंग में भी निवेशकों को अपना वित्तीय लक्ष्य तय करना चाहिए कि उनके निवेश का मकसद क्या है, वे अपने लिए मकान-कार खरीदने के लिए निवेश कर रहे हैं या बच्चों की पढ़ाई-शादी या अपने रिटायरमेंट आदि के लिए। निवेश सलाहकारों के मुताबिक, फाइनेंशियल प्लानिंग में सबसे अहम होता है एसेट एलोकेशन। यानी किस एसेट में कितना निवेश कर रहे हैं। गोल बेस्ड इन्वेस्टिंग में निवेशकों को अपनी जोखिम उठाने की क्षमता, उम्र, आय के आधार पर निवेश करना चाहिए। वेल्थ क्रिएशन कोई दो मिनट का काम नहीं है। इसके लिए अनुशासित होकर लगातार बचत और लंबी अवधि के लिए निवेश करना होता है।


पर्सनल फाइनेंस के गोल्ड रूल्स

1. रूल ऑफ 72

आपका पैसा कितने दिन में दोगुना हो जाएगा यह जानने के लिए रूल ऑफ 72 का इस्तेमाल होता है। इसमें 72 को सालाना मिल रहे रिटर्न से भाग देना होता है। मान लीजिए आपको सालाना 12 प्रतिशत रिटर्न मिल रहा है तो 72/12=6 यानी 6 साल में पैसा दोगुना हो जाएगा।

2. 100 माइनस एज

उम्र के आधार पर इक्विटी में कितना एसेट एलोकेशन होना चाहिए यह जानने के लिए इस नियम का इस्तेमाल होता है। यानी आपकी जितनी उम्र है, उसे 100 से घटाने पर जो संख्या बचती है उतना निवेश इक्विटी में होना चाहिए। उदाहरण के लिए अगर आपकी उम्र 35 साल है तो 100-35=65 यानी 65 प्रतिशत निवेश इक्विटी में होना चाहिए। बाकी निवेश डेट और गोल्ड में करें।

3. 50-30-20 रूल

इसका इस्तेमाल बजट की प्लानिंग के लिए होता है। इसके मुताबिक आपकी जितनी आया है उसका 50 प्रतिशत जरूरी चीजों पर खर्च करें, 30 प्रतिशत खर्च अपने शौक पर करें और आय का 20 प्रतिशत हर माह निवेश करें।

4. फर्स्ट वीक रूल

निवेश में अनुशासन लाने के लिए अपनी आय का 20 प्रतिशत महीने के पहले हफ्ते में ही निवेश करें। अक्सर किसी जरूरत के आ जाने पर पैसा खत्म हो जाता है और निवेश टल जाता है। इससे बचने के लिए पहले हफ्ते में ही निवेश करें।

5. 40 प्रतिशत ईएमआई

किसी भी कीमत में आपकी कुल ईएमआई राशि कुल इनकम का 40 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। जितना कम कर्ज रहे वेल्थ क्रिएशन के लिए उतना अच्छा होता है।

6. 20 गुना टर्म इंश्योरेंस

अपने आश्रितों का भविष्य सुरक्षित करने के लिए टर्म इंश्योरेंस लेना बहुत जरूरी है। टर्म इंश्योरेंस का सम एश्योर्ड सालाना आय का कम से कम 20 गुना होना चाहिए। यदि सालाना आय 10 लाख रुपए है तो 2 करोड़ का टर्म इश्योरेंस कराएं।

यह भी पढ़ें

Explainer: विपक्ष के 141 निलंबित सांसदों पर क्या क्या लगाई गई पाबंदियां, जानिए क्या हैं नियम

7. 6 गुना इमरजेंसी फंड

मासिक आय का 6 गुना इमरजेंसी फंड बनाएं, ताकि किसी अनहोनी के समय आर्थिक तंगी न हो। अगर आपकी मासिक आय 50,000 रुपए है तो इमरजेंसी फंड में 3 लाख रुपए होना चाहिए।

यह भी पढ़ें

जापान ने कोलकाता पर गिराए थे बम, जानें क्या है इस पुल का इतिहास और खासियत



8. 25 गुना रिटायरमेंट फंड

अपनी रिटायरमेंट के लिए जितनी जल्दी निवेश शुरू करेंगे, कंपाउंडिंग का उतना अधिक फायदा मिलेगा और मोट फंड जमा कर पाएंगे। सालाना खर्च का कम से कम 25 गुना रिटायरमेंट फंड होना चाहिए। मान लीजिए आपका सालाना खर्च अभी 6 लाख रुपए है तो रिटायरमेंट कॉपरस 1.80 करोड़ रुपए होना चाहिए।

यह भी पढ़ें

Video: राम मंदिर थीम पर 5000 अमरीकन हीरों से बनाया अनोखा हार, 40 कारीगरों ने 35 दिन में किया तैयार



यह भी पढ़ें

300 ट्रकों के बराबर सामान पहुंचाने वाली हैवी हॉल मालगाड़ी! कितनी किलोमीटर लंबी, कहां से कहां तक चलेगी?




loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो