scriptbill cancelling 3 farm laws gets presidential sign off | रद्द हो गए तीनों कृषि कानून, दोनों सदनों से हरी झंडी के बाद अब राष्ट्रपति ने भी लगाई मुहर | Patrika News

रद्द हो गए तीनों कृषि कानून, दोनों सदनों से हरी झंडी के बाद अब राष्ट्रपति ने भी लगाई मुहर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने संबंधी विधेयक पर मुहर लगा दी है। इसके साथ ही कृषि कानून अब औपचारिक रूप से निरस्त हो गए हैं।

नई दिल्ली

Published: December 01, 2021 08:24:49 pm

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने संबंधी विधेयक पर मुहर लगा दी है। इसके साथ ही कृषि कानून अब औपचारिक रूप से निरस्त हो गए हैं। बता दें कि करीब एक साल से किसान इन कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। इसके चलते केंद्र सरकार ने इन्हें वापस लेने का ऐलान कर दिया था। वहीं संसद के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन इन कानूनों को रद्द करने से संबंधी विधेयक लोकसभा और राज्यसभा में पारित हो गए थे।
bill cancelling 3 farm laws gets presidential sign off
bill cancelling 3 farm laws gets presidential sign off
किसान कर रहे एमएसपी पर कानून बनाने की मांग
बता दें कि सरकार बीते कुछ दिनों से किसानों के प्रति नरम नजर आ रही है। किसान करीब एक साल से इन कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे थे। वहीं अब जब सरकार ने इन कानूनों को रद्द कर दिया है, इसके बाद भी किसान अपने आंदोलन खत्म नहीं कर रहे हैं। अब किसान, सरकार से एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं।
सरकार ने कृषि कानून वापस लेने के बाद पराली जलाने को भी अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है। वहीं सरकार ने किसानों से एमएसपी को लेकर चर्चा भी तैयार है। इसको लेकर सरकार ने संयुक्त किसान मोर्चा से पांच नाम मांगे है, जिनकी एक कमेटी बनाकर एमएसपी यानि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर चर्चा की जा सके।
यह भी पढ़ें

यात्रा प्रतिबंधों से Omicron वेरिएंट को दुनियाभर में फैलने से नहीं रोका जा सकता, जानिए WHO ने क्या कहा

वहीं, सरकार के रवैये को देखते हुए किसान संगठन भी नरम हो गए हैं। इसके चलते किसानों के 40 संगठनों ने सभी बैठकें रद्द कर दी है। इसके साथ ही संयुक्त किसान मोर्चा के कई संगठनों ने इस बैठक से दूरी बनाने की कोशिश की। किसान नेताओं का दावा है कि संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक 4 दिसंबर को होगी, जिसमें आंदोलन खत्म करने या न करने पर आखिरी फैसला होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Padma Awards 2022: जनरल बिपिन रावत-कल्याण सिंह को मरणोपरांत पद्म विभूषण, गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण, देखें पूरी सूचीRepublic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झांझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयकोरोना पॉजिटिविटी दर में उतार-चढाव जारी, मिले नए 427 केसUP Assembly elections 2022 : 'मुस्लिमों को पिछड़ा बनाने के लिए सरकारें दोषी, बच्चों को हासिल करवाओं तालीम'स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.