scriptOpposition React on meat Ban,Constitution allows me to eat when I like | दिल्ली के मेयर ने लगाया मांस की दुकानों पर प्रतिबंध, तो बिफरा विपक्ष, कहा - 'संविधान अनुमति देता है, जब चाहें खा सकते हैं' | Patrika News

दिल्ली के मेयर ने लगाया मांस की दुकानों पर प्रतिबंध, तो बिफरा विपक्ष, कहा - 'संविधान अनुमति देता है, जब चाहें खा सकते हैं'

दक्षिण दिल्ली के मेयर की ओर से नवरात्रि के दौरान मांस की दुकानों पर प्रतिबंध को सख्ती के साथ लागू करने के बयान के बाद विपक्ष अपनी प्रतिक्रिया देते नजर आ रहे हैं।

नई दिल्ली

Published: April 06, 2022 01:14:18 pm

कर्नाटक के बाद अब दिल्ली में मीट की दुकानों पर बवाल शुरू हो गया है। साउथ दिल्ली नगर निगम के महापौर के नवरात्रों में मांस की दुकानों को बंद करने के बयान ने भ्रम पैदा कर दिया है। दरअसल निगम के अधिकारियों का कहना है कि इस संबंध में अभी कोई आदेश जारी नहीं किए गए हैं।
दिल्ली के मेयर ने लगाया मांस की दुकानों पर प्रतिबंध, तो बिफरा विपक्ष, कहा - 'संविधान अनुमति देता है, जब चाहें खा सकते हैं'
दिल्ली के मेयर ने लगाया मांस की दुकानों पर प्रतिबंध, तो बिफरा विपक्ष, कहा - 'संविधान अनुमति देता है, जब चाहें खा सकते हैं'
नवरात्रि के चलते दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने मीट की दुकानों को बंद करने का फैसला किया है। मेयर के इस फैसले पर विवाद खड़ा हो गया है और अब लोग सोशल मीडिया पर विरोध जता रहे हैं। दक्षिण दिल्ली नगर निगम के मेयर मुकेश सूर्यन ने कहा कि "नवरात्रि के दौरान, दिल्ली में 99% घर लहसुन और प्याज का भी उपयोग नहीं करते हैं, इसलिए हमने फैसला किया है कि दक्षिण एमसीडी में कोई मांस की दुकान नहीं खुलेगी, फैसला लागू होने के बाद इसका उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा। हम भविष्य में इस शर्त के साथ ही लाइसेंस भी जारी करेंगे। हम सभी मांस की दुकानों को सख्ती से बंद कर देंगे। जब मांस नहीं बेचा जाएगा, तो लोग इसे नहीं खाएंगे।"
सोशल मीडिया पर वेज बनाम नॉनवेज की ये लड़ाई धीरे से हिंदू बनाम मुस्लिम की ओर भी बढ़ती जा रही है। एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा है कि ये पागल लोग भारतीय व्यवसायों/आजीविका और भारतीय संस्कृति को धीरे-धीरे और तब तक नष्ट करते रहेंगे जब तक हम श्रीलंका की तरह नहीं बन जाते - यह मीट बैन केवल धर्म के बारे में नहीं है, यह उस ताकत के बारे में है और हर एक पर इसे थोपने की छूट है। यह दिल्ली के 70% को अपराधी बनाने के बारे में है।
राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने एसडीएमसी मेयर पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था, "रमजान के दौरान हम सूर्योदय और सूर्यास्त के बीच नहीं खाते हैं। मुझे लगता है कि यह ठीक है अगर हम हर गैर-मुस्लिम निवासी या पर्यटक को सार्वजनिक रूप से खाने से प्रतिबंधित करते हैं, खासकर मुस्लिम बहुल इलाकों में। अगर दक्षिण दिल्ली के लिए बहुसंख्यकवाद सही है, तो उसे जम्मू-कश्मीर (जम्मू और कश्मीर) के लिए भी सही होना चाहिए।"
तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा की भी इस पर प्रतिक्रिया आई है। महुआ मोइत्रा ने नवरात्रि के दौरान दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में मांस की दुकानों पर प्रतिबंध की आज आलोचना की है। उन्होंने ट्वीट किया, "मैं दक्षिण दिल्ली में रहती हूं। संविधान मुझे अनुमति देता है कि मैं जब चाहूं मीट खा सकती हूं और दुकानदार को अपना व्यापार चलाने की आजादी देता है।"
यह भी पढ़ें

VHP ने बनाया बड़ा प्लान, पश्चिम बंगाल में रामनवमी पर करने जा रही है यह काम



कांग्रेस के सलमान निजामी ने कहा, "उन्हें दक्षिण दिल्ली में मांस की दुकानों से समस्या है, लेकिन पूर्वोत्तर और गोवा में गुणवत्ता वाले गोमांस का वादा करता है। पाखंड आपका नाम भाजपा है!"
सिर्फ इतना ही नहीं, मेयर के इस फैसले पर एक्टर रणवीर शौरी ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है, उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "अगर 99% नहीं खाते हैं, तो वे नहीं खरीदेंगे! दुकानें क्यों बंद करें?! मेयरजी क्यों तय करते हैं कि दूसरे लोगों की थाली में क्या रहेगा और क्या नहीं?"
यह भी पढ़ें

42 सालों तक इस स्टेशन पर नहीं रुकी कोई ट्रेन, शाम ढलने के बाद आज भी नहीं जाता कोई



एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने कहा कि "ये हास्यास्पद और असंभव आंकड़े हैं, चलिए शुरू करते हैं।"
आपको बता दें, सूर्यन ने पत्र में कहा है कि आम जनता की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए, दो अप्रैल से 11 अप्रैल 2022 तक चलने वाले नवरात्रि उत्सव के नौ दिन की अवधि के दौरान मांस की दुकानों को बंद करने के लिए कार्रवाई करने के वास्ते संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए जा सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महा विकास अघाड़ी सरकार को बड़ा झटका, शिंदे खेमे में शामिल होंगे उद्धव के 8वें मंत्रीRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की आजमगढ़ सीट से निरहुआ की हुई जीत, दिल्ली में मिली जीत पर केजरीवाल गदगदअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिएSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहMumbai News Live Updates: कलिना, सांताक्रूज में पार्टी कार्यकर्ताओं के कार्यक्रम में शामिल हुए आदित्य ठाकरेMaharashtra Political Crisis: केंद्र ने शिवसेना के बागी 15 विधायकों को दी Y प्लस कैटेगरी की सुरक्षा, शिंदे गुट ने डिप्टी स्पीकर के खिलाफ लिया ये फैसला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.