scriptReduce Disturbed Areas Under AFSPA In Nagaland, Manipur and Assam: Amit Shah | आज से नगालैंड, असम और मणिपुर में घट जाएगा AFSPA का दायरा, मोदी सरकार का बड़ा फैसला | Patrika News

आज से नगालैंड, असम और मणिपुर में घट जाएगा AFSPA का दायरा, मोदी सरकार का बड़ा फैसला

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि भारत सरकार ने दशकों बाद नागालैंड, असम और मणिपुर राज्यों में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) के तहत अशांत क्षेत्रों को कम करने का फैसला किया है। गृहमंत्री ने कहा कि ये पूर्वोत्तर राज्यों में एक नए युग की शुरुआत है।

नई दिल्ली

Updated: April 01, 2022 07:13:02 am

केंद्र सरकार ने गुरुवार 31 मार्च को उत्तर पूर्वी राज्यों की दृष्टि से बड़ा कदम उठाया है। इसके तहत असम, नगालैंड और मणिपुर से सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (AFSPA) का क्षेत्र सीमित करने का फैसला किया गया है। अब यह विशेष कानून अब इन राज्यों के कुछ खास इलाकों तक सीमित रहेगा। यानी अब आफस्पा का क्षेत्र घटा दिया गया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि भारत सरकार ने दशकों बाद नागालैंड, असम और मणिपुर राज्यों में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) के तहत अशांत क्षेत्रों को कम करने का फैसला किया है। इससे पूर्वोत्तर राज्यों में एक नए युग की शुरुआत हुई है। बता दें कि नया फैसला 1 अप्रैल 2022 से लागू हो जाएगा। यानि शुक्रवार से अफ्सपा का दायरा कम हो जाएगा।
Reduce Disturbed Areas Under AFSPA In Nagaland, Manipur and Assam: Amit Shah
Reduce Disturbed Areas Under AFSPA In Nagaland, Manipur and Assam: Amit Shah

दरअसल लंबे समय से उत्तर-पूर्व के राज्यों से इस कानून को हटाने के लिए मांग हो रही है। हालांकि केंद्र ने अभी इसे पूरी तरह हटाने की बजाए कुछ गड़बड़ी वाले क्षेत्रों तक सीमित करने का निर्णय लिया है। यानी अब कई इलाकों से AFSPA हट जाएगा।

यह भी पढ़ें

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, गुजरात भाजपा का गढ़ था, है और रहेगा



केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। शाह ने कहा कि दशकों से उपेक्षित महसूस कर रहे उत्तर-पूर्वी राज्यों के प्रति पीएम नरेंद्र मोदी की वचनबद्धता के कारण वहां शांति, समृद्धि व विकास का नया युग नजर आ रहा है।


शाह ने कहा कि, इस मौके पर मैं उत्तर-पूर्व की जनता को बधाई देता हूं। अमित शाह ने कहा कि एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्णायक नेतृत्व में भारत सरकार ने दशकों बाद नागालैंड, असम और मणिपुर राज्यों में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) के तहत अशांत क्षेत्रों को कम करने का निर्णय लिया है।

शाह ने कहा कि, AFSPA के तहत क्षेत्रों में कमी सुरक्षा की स्थिति में सुधार और प्रधानमंत्री की ओर से उत्तर पूर्व में स्थायी शांति लाने और उग्रवाद को खत्म करने के लिए लगातार कोशिश की जा रही है। कई समझौतों के कारण तेजी से इन इलाकों में विकास हो रहा है।


पीएम मोदी के नेतृत्व में शांति बहाल हुई

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ना सिर्फ पूर्वोत्तर के राज्यों का विकास हो रहा है, बल्कि यहां पर शांति बहाल भी हुई है। उग्रवादियों की गतिविधियों पर लगाम लगाने में बीजेपी सरकार ने अहम भूमिका निभाई है।

यह भी पढ़ें

Rajya Sabha से रिटायर हुए 72 सांसद, जानिए पीएम मोदी ने फेयरवेल में क्या कहा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: 14 ओवर के बाद आरसीबी 3 विकेट के नुकसान पर 111 रनपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.