बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक दशहरा विजयादशमी कब है...

Dussehra 2018 कब है लेकर लोग काफी सर्च कर रहे हैं, दशहरा कितनी तारीख को है लेकर लोग काफी उत्सुक हैं, विजयदशमी से पहले रामलीला मंचन की तैयारिया शुरू।

 

 

 

By: Ashutosh Pathak

Updated: 21 Sep 2018, 02:53 PM IST

नोएडा। नवरात्रि के बाद दशहरा का त्योहार मनाया जाता है। Dussehra हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। दशहरा बुराई पर अच्छाई का प्रतीक माना जाता है। हिंदी पंचाग(Hindu Calandar) के अनुसार आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को Vijaydashmi अथवा दशहरे का त्योहार मनाया जाता है। इस बार यह त्योहार 19 अक्तूबर को देशभर में मनाया जाएगा। दशहरे से पहले 10 अक्तूबर नवरात्रि की शुरूआत हो रही है। जिसमें नौ दिनों तक मां दुर्गा के अलग-अलग रुपों की पूजा की जाती है। नवमी को देवी मां की विदाई के बाद दशमी को दशहरा मनाया जाता है।

ये भी पढ़ें: Karva Chauth 2018: नोएडा में दिखने लगा करवा चौथ का क्रेज, तो लोगों ने शुरू कर दिए करवा चौथ के इन गानों को सुनना

When is Dussehra in 2018? | 2018 में दशहरा कब है:

दशहरा, दीपावली के 20 दिन पहले पड़ता है। विजयदशमी के ही दिन भगवान श्रीराम चंद्र जी ने रावण का वध किया था। दशहरा को असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है। इसीलिए इस दशमी को विजयादशमी के नाम से जाना जाता है। इसी दिन से लोग नया कार्य प्रारम्भ करते हैं, साथ ही कई लोग शस्त्र-पूजा भी करते हैं।

ये भी पढ़ें: Shardiya Navratri 2018: जानिए कब से है शुरू हो रहा है शारदीय नवरात्र और व्रत करने की तारीख

Dussehra Ramlila | दशहरा रामलीला:

विजयादशमी से कई दिन पहले से ram leela चलती है। जिसमें रामचरितमानस का मंचन होता है। जिसमें कलाकार राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न के अलावा माता सीता रावण सहित अन्य किरदार बनते हैं और मंचन करते हैं। जिसे देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ जुटती है। नोएडा और गाजियाबाद के भी अलग-अलग रामलीला ग्राउंड में रामलीला की तैयारियां शुरू हो गई हैं। साथ ही लोगों को देखने के लिए भी इंतजाम किए गए हैं।

ये भी पढ़ें: इस दिन से शुरू हो रही है नवरात्रि, नौ दिन तक होगी माता की पूजा, बजाएं इन गानों को झूम उठेंगे लोग

Dussehra Fair | दशहरा का मेला

दशहरा के दिन शहर में अलग-अलग जगह बड़े मेलों का आयोजन किया जाता है। जिसे देखने के लिए भारी संख्या में लोग अपने परिवार, दोस्तों के साथ पहुंचते हैं और खुले आसमान के नीचे मेले का पूरा आनंद लेते हैं। मेले में तरह-तरह की वस्तुएं, चूड़ियों से लेकर खिलौने और कपड़े बेचे जाते हैं। इसके साथ ही मेले में तरह-तरह के व्यंजनों की भी भरमार रहती है। जिसका लोग भरपुर लुत्फ उठाते हैं।

ये भी पढ़ें: Karva Chauth 2018: जानिए कब है करवा चौथ और क्‍या है पूजा का शुभ मुहूर्त

Show More
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned