ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने जारी किया नया आदेश, समय पर बिजली बिल नहीं भरने वालों की अब खैर नहीं!

Highlights:

-नोएडा के कई बिजली घरों का निरीक्षण करने पहुंचे श्रीकांत शर्मा

- बिना होम वर्क के आए अफसरों पर फूटा ऊर्जा मंत्री का गुस्सा

-अधिकारियों से बोले- नोएडा में रहना है तो काम करना सीख लें

By: Rahul Chauhan

Published: 29 Nov 2020, 09:19 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। यूपी के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने शनिवार को नोएडा के कई बिजलीघरों का निरीक्षण किया। उन्होंने घर-घर जाकर लोगों से विभाग की कार्यप्रणाली के बारे में फीडबैक लिया। ऊर्जा मंत्री ने विभाग से संबंधित सवालों के जवाब न देने और उपभोक्ताओं की शिकायत पर विभाग के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने तीन महीने से अधिक के बकायेदारों के घर जाकर बिजली बिलों की वसूली के आदेश दिए।

यह भी पढ़ें: भाजपा विधायक ने अखिलेश यादव और मायावती को लेकर दिया ये विवादित बयान

दरअसल, नोएडा के सेक्टर 29 बिजली स्टेशन पर अचानक से ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा पहुंच गए और बिजली विभाग के अधिकारियों से जानकारी की कि नोएडा में कितने लोग बिजली विभाग के डिफॉल्टर हैं। इसके साथ ही श्रीकांत शर्मा ने अधिकारियों से जब बिजली संबंधित डाटा कलेक्ट करने की मांग की तो अधिकारी हड़बड़ा गए और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के सवालों का सही से जवाब नहीं दे पाए। बिजली विभाग के आला अधिकारी फाइलों में डाटा ढूंढते हुए नजर आए। जिस पर ऊर्जा श्रीकांत शर्मा ने नाराजगी प्रकट करते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि नोएडा में रहना है तो सही से काम करना सीख लें।

यह भी पढ़ें: सरकारी नौकरियों में भर्ती कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, दो कांस्टेबल और गृह मंत्रालय का कर्मचारी भी शामिल

ऊर्जा मंत्री ने इस बात की जानकारी हासिल की कि कौन सा अफसर कितने दिनों से नोएडा में तैनात है। बिजली विभाग के आला अधिकारियों को आदेश दिए कि 3 महीने से ज्यादा बिजली विभाग के डिफॉल्ट के घर डोर टू डोर जाएं और बिजली विभाग का पैसा वसूल करने का काम करें। साथ ही श्रीकांत शर्मा ने बिजली विभाग के अधिकारियों से जानकारी हासिल की थी डिपार्टमेंट में क्या-क्या समस्याएं हैं, ताकि जल्द से उनका निराकरण किया जा सके।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned