युवती का नंबर पाने के लिए फर्जी अधिकारी बन गया शख्स, फिर किया ये काम

Nitin Sharma

Publish: Apr, 17 2018 12:44:15 PM (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
युवती का नंबर पाने के लिए फर्जी अधिकारी बन गया शख्स, फिर किया ये काम

युवती को हुआ शक तो परिजनों ने एेसे बुलाया

नोएडा।यूपी के शो विंडो कहे जाने वाले ग्रेटर नाेएडा स्थित बिजली विभाग में एक एेसा मामला सामने आया। जिसके खुलने पर लोग दंग रह गये। दरअसल यहां बिजली बिल की गड़बड़ी को लेकर घूम रही युवती का नंबर पाने के लिए शख्स ने खुद को अधिकारी बताया। आैर बिल ठीक करोन के बहाने उसका नंबर भी ले लिया, लेकिन युवती को एेसा मैसेज भेजने पर आरोपी का राज खुल गया। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया।

यह भी पढ़ें-...तो इसलिए बीच सड़क पर घर बनाने जा रहे लोग, सरकार में मची खलबली!

नंबर लेकर अधिकारी ने भेजे एेसे मैसेज तो युवती को हुआ शक

जानकारी के मुताबिक ग्रेनो वेस्ट के इटैहरा गांव के पास बिजली विभाग का आॅफिस है। वहां पर पास के ही गांव की एक युवती अपने घर का बिजली का बिल ठीक कराने आई थी। लेकिन उस समय अधिकारी अपने केबिन में मौजूद नहीं थे। इसी दौरान बिजली विभाग में ठेकेदारी में काम करने वाला एक कर्मचारी वहां जा पहुंचा। उसने युवती को बताया कि वह बिजली अधिकारी है आैर यहां जेर्इ के पद पर तैनात है। इतना ही नहीं आरोपी ने युवती का नंबर पाने के लिए उसका बिल ठीक कराने का अश्वासन देकर नंबर ले लिया। नंबर लेने के बाद से आरोपी उसे अश्लील मैसेज करने लगा। युवती के विरोध करने पर आरोपी ने उसे काॅल भी की। जिस पर युवती को शक हुआ।

यह भी पढ़ें-छात्रा के साथ रास्ते में हुआ कुछ एेसा कि स्कूल जाने से किया तौबा

परिजनों ने एेसे बुलाया शख्स आैर फिर कर दी धुनार्इ

आरोपी द्घारा बार बार काॅल करने आैर अश्लील मैसेज भेजने से परेशान होकर सोमवार को युवती ने अपने परिजनों को मामले की जानकारी दी। जिसके बाद परिवार के लोग इटैहरा बिजली घर जा पहुंचे।वहां परिजनों ने युवती को काॅल कर परेशान कर रहे राकेश कश्यप नाम के शख्स को तलाश किया। जब एसडीआे ने बताया कि उनके यहां इस तरह का कोर्इ अधिकारी तो दूर सरकारी कर्मचारी भी नहीं है। तब युवती के परिनजों ने लड़की की आवाज में आरोपी शख्स को काॅल कर मिलने के बिजली घर बुला लिया। यहां उसके पहुंचते ही पुलिस ने आरोपी की जमकर धुनार्इ कर दी। इसके बाद परिजनों ने आरोपी ठेकेदार कर्मचारी को पुलिस को सौंप दिया। बिसरख पुलिस मामले की जांच कर रही है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned