अवैध टेलीफोन एक्सचेंज से सरकार को करोड़ों का चूना लगाने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

अवैध टेलिफोन एक्सचेंज में इस्तेमाल होने वाला सामान बरामद। सेक्टर-153 स्थित एक मॉल से हुई दोनों की गिरफ्तारी।

By: Rahul Chauhan

Published: 19 Jul 2021, 12:25 PM IST

नोएडा। भारत सरकार कॉल गेटवे को दरकिनार फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज के जरिये इंटरनेशनल कॉल से करोड़ों का चूना लगाने के दो लोगो को यूपी एटीएस ने गिरफ्तार किया है। यह गिरफ्तारी नोएडा के सेक्टर 153 स्थित एक मॉल से की गई है। जहां से ये अवैध टेलीफोन एक्सचेंज संचालित किया जा रहा था। पुलिस ने इस संबंध में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से एक लैपटॉप, तीन राउटर, एक डी-लिंक स्विच, विभिन्न एडाप्टर, पावर केबल, इथरनेट पोर्ट, टर्मिनेशन बॉक्स, ऑप्टिकल फाइबर केबल, चार मोबाइल फोन, 4 सिम कार्ड आदि बरामद किया गया है।

यह भी पढ़ें: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने अखिलेश के संसदीय क्षेत्र में खेला मुस्लिम कार्ड, डा. अली अख्तर को बनाया प्रभारी

यूपी एटीएस डीएसपी अतुल यादव ने बताया कि कुछ दिनों से एटीएस को सूचना प्राप्त हो रही थी कि नोएडा में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज संचालित किया जा रहा है जिसके माध्यम से अंतरराष्ट्रीय इंटरनेट कॉल को वॉइस कॉल में परिवर्तित करके भारतीय अर्थव्यवस्था को क्षति पहुंचाई जा रही है। सूचना के आधार पर एटीएस ने जांच शुरू की और अभय मिश्रा उर्फ आदित्य पुत्र संत प्रकाश मिश्रा और शम्स ताहिर खान उर्फ तुषार पुत्र वाहिद अली खान को गिरफ्तार कर इस अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का पर्दाफाश किया गया। ये दोनो ग्रेटर नोएडा के सेक्टर 153 में अर्बटेक एनपीएक्स मॉल में छठी मंजिल पर चल रहे "ऑल सलूशन सर्विस" नामक टेलीफोन एक्सचेंज का संचालन कर रहे थे।

डीएसपी ने बताया कि तफ्तीश के दौरान पता चला कि दोनों आरोपी इंटरनेट गेटवे बाईपास कर वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकाल (वीओआईपी) कॉल को वॉयस काल में परिवर्तित कर विदेशी नंबरों से बात करा रहे थे। इसके लिए आरोपी ने वोडाफोन से 100 चैनल का पीआरआई सर्वर इस्तेमाल कर रहे थे और ट्राई के नियमों का उल्लंघन कर विदेश से आने वाली इंटरनेट काल को वायरस काल में परिवर्तित कर भारत में संबंधित से बात कराई जाती थी। भारत के जिस व्यक्ति के नंबर पर बात होती थी उसके मोबाइल पर भारत का ही कोई नंबर प्रदर्शित होता था, जबकि जबकि कॉल किसी अन्य देश से हो रही होती है। इससे न सिर्फ भारतीय अर्थ व्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचाया जा रहा था बल्कि देश के सुरक्षा के साथ भी खिलवाड़ किया जा रहा था।

यह भी पढ़ें: कार में ले जा रहे थे सोने की नाव, पांच गिरफ्तार

यूपी एटीएस इनके खिलाफ थाना नॉलेज पार्क में मामला दर्ज कर इस बात की जांच कर रही है कि इस टेलीफोन एक्सचेंज के माध्यम से किन किन लोगों की बात कराई गई है। एटीएस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि अवैध इंटरनेट कॉलिंग के धंधे में ये लोग कब से संलिप्त हैं। साथ ही यह भी पता लगाया जा रहा है कि इनके कौन-कौन साथी हैं। इस अवैध कारोबार से इन्होंने कितना धन अर्जित किया और ये लोग इस तरह के और कितने एक्सचेंज चला रहे हैं।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned