रिटायर्ड कैप्टन और बिल्डर आए आमने-सामने तो जमकर चले लात घूसे, दिखा ऐसा नजारा

नेवी के सेवानिवृत्त कैप्टन ने बिल्डर समेत सात लोगों के खिलाफ मारपीट के मामले में केस दर्ज कराया है।

By: Rahul Chauhan

Published: 15 Nov 2018, 03:20 PM IST

नोएडा। कुछ समय पहले ही नोएडा में रिटायर्ड कर्नल और पीसीएस अधिकारी का मामला खूब सूर्खियों में था। जिसके बाद कई पुलिसकर्मियों पर भी इसकी गाज गिरी थी। वहीं अब ताजा मामला रिटायर्ड कैप्टन और बिल्डर है। जहां दोनों के आमने-सामने आ जाने पर जमकर लात-घूसे चले। जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने मारपीट का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : भाजपा सरकार के खिलाफ दिव्यांगों ने खोला मोर्चा, दे डाली बड़ी चेतावनी, देखें वीडियो

दरअसल, मामला सेक्टर-49 थाना क्षेत्र के सेक्टर-61 स्थित रॉयल गार्डन सोसायटी का है। जहां रहने वाले नेवी के सेवानिवृत्त कैप्टन ने बिल्डर समेत सात लोगों के खिलाफ मारपीट के मामले में केस दर्ज कराया है। दर्ज कराई गई शिकायत में रिटायर्ड कैप्टन ने निर्माण कंपनी पदमिनी इंफ्रास्ट्रक्चर के एमडी गिरीश बत्रा के इशारे पर सोसायटी के कर्मचारियों द्वारा मारपीट करने का आरोप लगाया है। जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

यह भी पढ़ें : पू्र्व प्रधान के बेटे ने डंडे से युवक के साथ किया ऐसा काम कि मच गई चीख-पुकार

रिटायर्ट कैप्टन विनोद कुमार का कहना है कि बिल्डर हर महीने उनसे मेंटीनेंस चार्ज लेता है। बावजूद इसके सोसायटी में बुनियादी सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं। न तो सोसायटी में लिफ्ट है और न ही सुरक्षा, अग्निशमन की सुविधाएं हैं। इसके साथ ही सोसायटी की चारदीवारी भी सीमेंट के बजाय मिट्टी से कराई गई है। जब भी इसका विरोध किया गया तो बिल्डर द्वारा उनका बिजली- पानी काट दिया जाता। इस बाबत उन्होंने 7 जून 2017 को नोएडा प्राधिकरण से शिकायत की थी, लेकिन इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई।

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट के वकील की बेटी को लेने गया था ड्राइवर, फिर हुआ कुछ ऐसा कि मच गई भगदड़

रिटायर्ड कैप्टन का आरोप है कि बिल्डर गिरीश बत्रा, रायल गार्डन एस्टेट प्रबंधन से जुड़े आरपी सिंह, आशीष गुप्ता, अश्विनी कुमार, हेल्थ क्लब प्रभारी सचिन, सरोज पटनायक और ऑफिस कर्मचारी ने 7 अक्टूबर 2018 को उन्हें सेक्टर 49 स्थित एसटीपी के पास रोक लिया और उनके साथ मारपीट और फायरिंग की। जब इसकी शिकायत पुलिस से की गई तो कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिसके बाद इसकी शिकायत एसएसपी से भी की गई, लेकिन फिर भी सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद वह कोर्ट चले गए। इस मामले में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक गिरिजा शंकर त्रिपाठी का कहना है कि कोर्ट के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned