भारत के पूर्व तैराकी चैंपियन बालकृष्णन की सड़क हादसे में मौत, कुछ दिन के लिए आए थे अपने वतन

भारत के पूर्व तैराकी चैंपियन बालकृष्णन की सड़क हादसे में मौत, कुछ दिन के लिए आए थे अपने वतन

Kapil Tiwari | Publish: May, 16 2019 10:17:16 AM (IST) अन्य खेल

  • एम बी बालकृष्णन एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में ले चुके थे हिस्सा
  • फिलाहल अमेरिका से चल रही थी हायर स्टडीज
  • कुछ दिन के लिए ही आए थे हिंदुस्तान

नई दिल्ली। कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले स्वर्ण पदक विजेता तैराक एम बी बालाकृष्णन की सड़क हादसे में मौत हो गई है। चेन्नई पुलिस ने बुधवार को उनके निधन की जानकारी दी। बताया जा रहा है कि एम बी बालाकृष्णन की मंगलवार को मौत हुई है।

बालकृष्णन ने मौके पर तोड़ा दम

- पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, 29 साल के बालाकृष्णन मंगलवार की रात को अपने दोस्त के साथ दुपहिए वाहन पर कोयमबेडु से वापस अपने घर आ रहे थे। वह पीछे बैठे हुए थे, लेकिन इस बीच उनका वाहन लॉरी से टकरा गया। मौके पर ही बालकृष्णन ने दम तोड़ दिया।

- पुलिस ने इस हादसे में लॉरी के ड्राइवर को पकड़ लिया है और उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आपको बता दें कि बालकृष्णन की अमेरिका से हायर स्टडीज चल रही थी और वो कुछ दिनों के लिए ही चेन्नई आए थे।

कौन थे बालकृष्णन

एम बी बालकृष्णन एक कुशल तैराक थे। उन्होंने 2007 गुवाहाटी राष्ट्रीय खेलों में पहली बार स्वर्ण पदक जीता था। इसके बाद नई दिल्ली में सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में 50 मीटर बैकस्ट्रोक में नेशनल रिकॉर्ड कायम किया। बालाकृष्णन ने उसी साल दक्षिण एशियाई खेलों में 100 मीटर और 200 मीटर बैकस्ट्रोक में स्वर्ण पदक जीते थे। 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले बालकृष्णन पर हमला भी किया गया था। उस हमले के बावजूद भी उन्होंने कॉमनवेल्स गेम्स में हिस्सा लिया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned