मौलाना मसूद अजहर पर सस्पेंस बरकरार, पाक मीडिया और सरकार दोनों खामोश

मौलाना मसूद अजहर पर सस्पेंस बरकरार, पाक मीडिया और सरकार दोनों खामोश

Mohit Saxena | Publish: Jun, 25 2019 12:18:40 PM (IST) | Updated: Jun, 25 2019 07:47:10 PM (IST) पाकिस्तान

  • Attack on JeM chief Masood Azhar: पाक के सैन्य अस्पताल में सोमवार को हुआ था एक बड़ा धमाका हुआ
  • इस धमाके में करीब 10 लोग गंभीर रूप से घायल हुए

लाहौर। खूंखार आतंकी मौलाना मसूद अजहर इन दिनों फिर से चर्चा में है। पाकिस्तान में इस बात की चर्चा है कि मौलाना मसूद अजहर की या तो मौत हो गई है या फिर वह बुरी तरह घायल है । मामला सोमवार को मुल्तान के आर्मी अस्पताल में हुए धमाके से जुड़ा हुआ है। कहा जा रहा है कि इस धमाके में मसूद अजहर बुरी तरह घायल हुआ है। उसकी मौत तक के दावे किए जा रहे हैं । लेकिन फिलहाल इस मुद्दे पर सस्पेंस बना हुआ है।

पाकिस्तान में मीडिया पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है कि वह इससे दूरी बनाकर रखे। सेना की साफ हिदायत है कि मीडिया इस मामले को कवर न करे। यह मामला जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर से जुड़ा हुआ है। बीते रविवार को पाक के सैन्य अस्पताल में एक बड़ा धमाका हुआ था। इस धमाके में करीब 10 लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। इस विस्फोट में मसूद के मारे जाने या गंभीर रूप से घायल होने की आशंका जाहिर की गई है।

पिता की बीमारी पर बोलीं बेटी मरियम, 'यह मिस्र नहीं, नवाज शरीफ को मुर्सी नहीं बनने देंगे'

क्वेटा के एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने बताया कि सेना ने मीडिया को इस घटना को कवर न करने की कड़ी हिदायत दी है। कार्यकर्ता अहसान उल्लाह मियाखेल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर दावा किया है कि यूएन ब्लैकलिस्टेड आंतकवादी और जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के प्रमुख मसूद अज़हर इसी अस्पताल में धमाके के वक्त मौजूद था। भारतीय इंटेलीजेंस एजेंसी ने हालांकि इसकी पुष्टि नहीं की है। मगर सूत्रों के हवाले से पता चला है कि दस घायलों में आतंकी मसूद अजहर भी शामिल है।

मियाखेल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर कहा कि मिलिट्री अस्पताल में हुए विस्फोट के बाद करीब दस घायलों का इलाज चल रहा है। जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मौलाना मसूद अजहर का अस्पताल में पहले से ही इलाज चल रहा है। ऐसे में मसूद की मौत को लेकर पाकिस्तान में चर्चाएं तो हैं पर कोई भी इसे उठाने को तैयार नहीं है।

ग्रे लिस्ट में रहेगा पाकिस्तान, FATF की चेतावनी पर भारत के बयान से बिफरे इमरान खान

 

विस्फोट के कारणों का पता नहीं चल रहा

मानवाधिकार कार्यकर्ता ने बताया कि विस्फोट के कारणों का पता नहीं चल रहा है। उसने कहा यह एक हमला भी हो सकता है। एक अन्य ट्विटर उपयोगकर्ता ने आशंका जाहिर की है कि यह एक सुनियोजित हमला है, आतंकी को मारने के लिए इसे अंजाम दिया गया।

पाकिस्तान के पूर्व पीएम गिलानी के बेटे का अपहरण करने वाले दो आतंकी ढेर

एक अन्य उपयोगकर्ता ने बिल्डिंग से धुआं निकलते हुए वीडियो साझा किया। गौरतलब है कि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर इस समय दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकियों में से एक है। दक्षिण एशियाई देशों में उसका नेटवर्क सबसे अधिक आतंकी घटनाओं को अंजाम देता है। हाल ही में उसे वैश्विक आतंकी घोषित किया गया है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned