scriptPakistan lawmakers pass anti-rape bill wey allow chemical castration | अब इस देश की सरकार अपराधियों को बनाएगी नपुंसक, जानिए किस जुर्म के लिए मिलेगी यह सजा | Patrika News

अब इस देश की सरकार अपराधियों को बनाएगी नपुंसक, जानिए किस जुर्म के लिए मिलेगी यह सजा

पाकिस्तान में रेप के दोषियों को सरकार सख्त सजा देने की तैयारी कर रही है। इमरान सरकार ने पिछले साल नवंबर में ही रेप के दोषियों को नपुंसक बनाने वाले अध्यादेश को मंजूरी दे दी थी। इसके बाद राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने इस अध्यादेश पर हस्ताक्षर भी कर दिया था। अब इसे दोषियों के खिलाफ लागू किया जा रहा है।

 

नई दिल्ली

Updated: November 19, 2021 05:51:04 pm

नई दिल्ली।

पाकिस्तान में लगातार बढ़ रहे रेप के मामलों के बाद वहां की संसद ने इसे रोकने के लिए कड़े कानून को मंजूरी दे दी है। इस कानून के तहत रेप के दोषियों को दवा देकर नपुंसक भी बनाया जाएगा।
pak.jpg
इस कानून का मकसद रेप के दोषसिद्धि में तेजी लाना और सख्त सजा देना है। पाकिस्तान में महिलाओं और बच्चों के साथ बलात्कार की घटनाओं में काफी बढ़ोतरी देखी गई है, जिसके बाद सरकार पर कड़े कानून लागू करने का दबाव बढ़ता जा रहा था।
यह भी पढ़ें
-

कारनामा: बीच सड़क पर इस शख्स का सिर नीचे था और पैर ऊपर, हाथ के बल पर कार खींचकर बनाया विश्व रिकॉर्ड, देखिए वीडियो

इमरान सरकार ने पिछले साल नवंबर में ही रेप के दोषियों को नपुंसक बनाने वाले अध्यादेश को मंजूरी दे दी थी। इसके बाद राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने इस अध्यादेश पर हस्ताक्षर भी कर दिया था। पाकिस्तान के संविधान में भी भारत की तरह किसी भी अध्यादेश को एक निश्चित समयसीमा के अंदर संसद में पेश करना जरूरी है। इसलिए पाकिस्तान सरकार ने इस अध्यादेश को विधेयक के रूप में पारित करवाया है।
इस कानून के बाद देशभर में विशेष अदालतों का गठन होगा। उसमें महिलाओं और बच्चों के खिलाफ रेप के मामलों की त्वरित सुनवाई होगी। कोर्ट चार महीने में सुनवाई पूरी कर लेगी। पहली बार या बार-बार रेप का अपराध करने वालों को नपुंसक किए जाने का प्रावधान किया गया है। हालांकि, इसके लिए दोषी की सहमति भी लेनी होगी।
यह भी पढ़ें
-

टेस्ला कंपनी के सीईओ एलन मस्क ने किया विवादित ट्वीट, बुजुर्ग सांसद को कहा- अरे तुम..

कानून में सबसे महत्वपूर्ण प्रावधान दवा देकर दोषियों को नपुंसक किए जाने का है। अधिसूचित बोर्ड के मार्गदर्शन में यह प्रक्रिया पूरी की जाएगी। कानून में प्रावधान किया गया है कि दुष्कर्म रोधी प्रकोष्ठ घटना की रिपोर्ट होने के छह घंटे के भीतर पीड़िता की जांच कराएगा। अध्यादेश के तहत आरोपियों को दुष्कर्म पीड़िता से जिरह की अनुमति नहीं होगी। केवल न्यायाधीश और आरोपी की ओर से पेश वकील ही पीड़िता से सवाल-जवाब कर पाएंगे।
जांच में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों और सरकारी अधिकारियों को तीन साल तक जेल हो सकती है और जुर्माना भी लगाया जा सकता है। पीड़ितों की पहचान उजागर नहीं की जाएगी और पहचान उजागर करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। नेशनल डाटाबेस एंड रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी की मदद से यौन उत्पीड़न के अपराधियों का डाटाबेस भी तैयार किया जाएगा। प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं से निपटने के लिए पिछले दिनों कड़ा कानून लाने की घोषणा की थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.