एक ऐसा सरकारी स्कूल जिसमें निजी से भी है बेहतर सुविधाएं

माडपुर गांंव का राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय

By: Om Prakash Tailor

Published: 15 Nov 2018, 01:50 PM IST

घाणेराव. कुछ कर गुजरने का निर्णय और मन में सेवा की भावना हो तो अभावों एवं चुनौतियों को भी बदलकर नया मार्ग बना लिया जाता है। देसूरी ब्लॉक में स्थित माडपुर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय इसका एक उदाहरण है। जहां 12 कक्षा में से 6 कक्षाएं खुले मैदान में पेड़ों के नीचे लगती हैं, लेकिन विद्यालय को देखते पर ही उसके स्तर का पता चल जाता है। विद्यार्थियों की रंगबिरंगी पोशाक, टाई-बैल्ट लगी हुई। गले में लटका परिचय पत्र। विद्यार्थियों के पढ़ाई का स्तर भी काफी ऊंचा है। गांव के इस विद्यालय को देखकर प्रसन्नता होती है। उल्लेखनीय है कि माडपुर गांव में स्थित सरकारी विद्यालय को शिक्षा विभाग ने उच्च प्राथमिक से माध्यमिक और उसके बाद उच्च माध्यमिक में क्रमोनित तो कर दिया लेकिन विभाग ने कक्षाकक्ष निर्माण को लेकर कोई बजट आवंटन नहीं किया। जो उच्च प्राथमिक विद्यालय के समय कक्षाकक्ष थे वही आज भी मौजूद हैं। इसके कारण 12 कक्षाओं में से 6 कक्षा पेड़ो के नीचे बैठकर अध्ययन करने को मजबूर थे। ऐसे में विद्यालय में सुविधा के अभाव के कारण अभिभावक अपने बच्चों को निजी विद्यालयों में अध्ययन के लिए भेज रहे थे। विद्यालय में नामांकन कम होने लगा। विद्यालय के प्रधानाचार्य मानसिंह चौहान ने सभी विद्यार्थियों की रंगबिरंगी यूनिफॉर्म तैयार करवाई। उसके साथ ही शिक्षकों की भी एक कलर की यूनिफॉर्म अनिवार्य कर दी। सभी बच्चों एवं शिक्षकों के परिचय पत्र भी अनिवार्य कर दिया। कक्षाकक्ष के अभाव में स्वयं संस्था प्रधान एवं शिक्षकों ने अपने वेतन से कुछ राशि एकत्र कर ग्रामीणों से जनसहयोग लेकर कक्षाकक्ष का निर्माण शुरू करवाया।
प्रतिस्पद्र्धा का वतावरण हो रहा है निर्मित
अन्तर्सदनीय खेलकुद सहित अन्य गतिविधियों के संचालन से विद्यालय में शानदार प्रतिस्द्र्वात्मक वातावरण का निर्माण हो रहा है। जो विद्यार्थियों के लिए अतिउपयोगी सिद्व हो रहा है ऐसे में विद्यार्थी अपने अपने हाउस को सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए कडी मेहनत कर रहे है।
हाउस भी बनाए
माडपुर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में शिक्षा स्तर को बेहतर करने के लिए अलग हाउस में विद्यार्थियों को बांटकर उन्हें अलग-अलग रंगो की यूनीफॉर्म दी। हाउस का नाम पर्वतों एवं नदियों के नाम पर रखे गए। इन हाउस के अलग अलग रंग के टीशर्ट-लोवर निर्धारित किए गए, जो विद्यार्थी सप्ताह में एक दिन पहनते हैं।
जनसहयोग से हो रहा कक्षाकक्ष का निर्माण
माडपुर गंाव में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कक्षाकक्ष की कमी के कारण 6 कक्षा पेड़ों की नीचे बैठकर अध्ययन करती है। ऐसे में प्रधानाचार्य की प्रेरणा से जनसहयोग से छह लाख की राशि एकत्र कर कक्षाकक्ष का निर्माण करवाया गया।
340 विद्यार्थी को 18 शिक्षक करवा रहे अध्ययन
माडपुर गांव में स्थित आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कुल 340 विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं। 18 शिक्षक कार्यरत हैं। गणित विषय का पद रिक्त है। विद्यालय में कला संकाय संचालित है।
विद्यालय में बेहतर शिक्षा के प्रयास
विद्यालय में बेहतर शिक्षा का माहौल बनाने के लिए प्रयासरत हैं। भामाशाहों के सहयोग से इस पिछड़े क्षेत्र के विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा देना तथा भौतिक सुविधाएं प्रदान कराना, मुख्य लक्ष्य है।
मानसिंह चौहान, प्रधानाचार्य, राज. उच्च माध्यमिक विद्यालय, माडपुर

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned