लॉकडाउन में दस रुपए का जर्दा पाउच सौ रुपए में, गुटखा व जर्दे की बढ़ी कालाबाजारी

- रोक के बावजूद जोरों पर बिक्री
- कोई कार्रवाई नहीं

By: Suresh Hemnani

Published: 23 Apr 2020, 07:04 AM IST

पाली। लॉकडाउन [ Lockdown ] के दौरान गुटखा व जर्दा [ Gutkha and Zarda ] की कालाबाजारी [ Black marketing ] इन दिनों जोरों पर है। प्रदेश में इनकी कालाबाजारी के चलते इनके भाव दस गुना बढ़ गए हैं, अवैध कारोबार करने वाले खुलेआम यह काम कर रहे हैं, जबकि पुलिस [ pali Police ], प्रशासन [ District administration ] व चिकित्सा विभाग [ medical Department ] इस पर कोई काम नहीं कर रहा है।

थूकने पर रोक, यहां तो बिक रहा
प्रदेश में कोरोना संक्रमण के दौरान लॉक डाउन कर रखा है। गुटखा, जर्दा सहित अन्य धुम्रपान सामग्री पर रोक है, साथ ही प्रदेश में सार्वजनिक स्थान पर थूकने पर भी रोक है, लेकिन मारवाड़-गोडवाड़ में इन दिनों 5 रुपए के गुटखा पाउच के दाम 60 से 70 रुपए में बेचा जा रहा था। वहीं दस रुपए का जर्दा का पाउच सौ रुपए में बिक रहा है। फिलहाल इस दिशा में पाली में कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हुई है।

पाली में बड़े गोदाम, व्यापारियों की तलाशी तक नहीं
पाली में गुटखा व जर्दा का होलसेल कारोबार करने वाले ही कालाबाजारी कर रहे हैं। इनके बड़े गोदामों में बड़ा स्टॉक हो सकता है, लेकिन प्रशासन, पुलिस व चिकित्सा विभाग ने फिलहाल इन पर किसी प्रकार की तलाशी या कार्रवाई नहीं की है। इधर, पाली मुख्यालय सहित हाइवे व ग्रामीण इलाकों में गुटखा, जर्दा व पान मसाला की कालाबाजारी जारी है। जबकि प्रदेश की राज्य सरकार ने फिलहाल इनकी बिक्री पर रोक लगा रखी है।

Corona virus
Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned