हर मन को मोह रही गणपति बप्पा की मूर्तियां

हर मन को मोह रही गणपति बप्पा की मूर्तियां

rajendra denok | Publish: Sep, 10 2018 10:42:20 AM (IST) Pali, Rajasthan, India

- गणेश चतुर्थी को लेकर बाजार में भी उत्साह का माहौल

पाली । भगवान गणेश के जन्मोत्सव गणेश चतुर्थी में तीन दिन ही बचे है। इसे लेकर शहरवासियों में जबरदस्त उत्साह है। शहर के प्रमुख मार्गों पर गणपति बप्पा की मूर्तियों की दुकानें भी सज गई है। शहर के गणेश मंदिरों में तो विशेष पूजा अर्चना होगी। वहीं लोग अपने-अपने घरों में भी प्रथम पूज्य गणपति बप्पा की मूर्तियों की स्थापना कर पूजा अर्चना करेंगे।
मूर्तियों का व्यवसाय करने वाला प्रभुराम ने बताया कि गणपति विजर्सन में तालाबों में प्रदूषण नहीं फैले। इसके लिए इस बार कर्नाटक से मिट्टी की मूर्तियां मंगवाई गई है। प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियां नहीं बनाते हैं। इससे प्रदूषण फैलता है। मूर्तियों पर कलर भी पानी वाला किया हुआ है। उनकी मानें तो मूर्तियां काफी अच्छी संख्या में बिक रही है। शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी काफी संख्या में खरीदारी के लिए पहुंच रहे हैं। यहां गणपति बप्पा की मूर्ति 160 से लगाकर 5500 रुपए तक की उपलब्ध है। बप्पा की विभिन्न रंगों में भी मूर्तियां उपलब्ध हैं, जो अनायास ही लोगों को आकर्षित कर रही है।

गणेश प्रतिमा का होगा दुग्धाभिषेक
पाली । मोती चौक स्थित गणेश मंदिर में गणेश चतुर्थी गुरुवार को धूमधाम से मनाई जाएगी। पुजारी धर्मेन्द्र दवे ने बताया कि कार्यक्रम को लेकर मंदिर को रोशनी से सजाया गया है। गणेश प्रतिमा का सुगंधित पुष्पों से विशेष शृंगार किया गया। गणेश प्रतिमा का दुग्धाभिषेक भी होगा। पंडित दुर्गाशंकर दवे के नेतृत्व में वैदिक मंत्रों के साथ विशेष पूजा अर्चना होगी।

श्रावणी उपाकर्म कल, करेंगे तर्पण
पाली. सामवेदी ब्राह्मणों का उपाकर्म हस्त नक्षत्र पर मंगलवार को पाली के लाखोटिया तालाब के गौ घाट पर आयोजित किया जाएगा।
श्रीमाली ब्राह्मण समाज विकास समिति के अध्यक्ष एडवोकेट पीएम जोशी ने बताया कि यज्ञोपवीतधारी सामवेदी ब्राह्मण हस्त नक्षत्र में श्रावणी उपाकर्म करते हैं। लाखोटिया सरोवर पर काशी के पण्डित के सान्निध्य में समस्त विप्र मण्डल मंगलवार सुबह 10 बजे लाखोटिया तालाब पाली घाट पर वैदिक परम्परा एवं शास्त्रोक्त विधि से सामवेदी उपाकर्म करेंगे। स्नान व प्राणायाम शुद्धीकरण के बाद
हेमाद्री संकल्प, दश विधि स्नान, मध्यान्ह संध्या कर्म, ब्रह्म यज्ञ, देव-ऋषि-पितृ तर्पण, विष्णु
पूजन, ऋषि पूजन, तर्पणादि एवं यज्ञोपवीत पूजन सहित नवीन यज्ञोपवीत धारण करेंगे।

अलख मंदिर में भजन संध्या आज
पाली। मारवाड़ जंक्शन के बाली मांडा स्थित अलख मंदिर में सोमवार को एक भजन संध्या का आयोजन होगा। मंदिर के पुजारी ने बताया कि रात्रि में रामदेवजी का ब्यावला व भजनसंध्या का आयोजन होगा। बीज को मेला भरा जाएगा। विजयप्रतापसिंह ने बताया कि हनुमान बेरा पर सीरवी समाज की ओर से प्रसादी का आयोजन होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned