वेंकैया नायडू को 17 विपक्षी सांसदों ने लिखी चिट्ठी

वेंकैया नायडू को 17 विपक्षी सांसदों ने लिखी चिट्ठी

Shiwani Singh | Publish: Jul, 26 2019 07:14:42 PM (IST) | Updated: Jul, 26 2019 07:22:30 PM (IST) राजनीति

  • विपक्षी नेताओं ने Venkaiah Naidu को लिखा पत्र
  • सांसदों ने मोदी सरकार पर लगाया जल्दबाजी का आरोप
  • जल्दबाजी में कानून पारित करने पर जताई चिंता

नई दिल्ली। कुछ दिनों से चिट्ठियां लिखकर विरोध और समर्थन जताने का दौर जारी है। अब इस कड़ी में राज्यसभा ( Rajy Sabha ) के सांसद भी जुड़ गए हैं। शुक्रवार को 17 विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ( M Venkaiah Naidu ) को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने सरकार की ओर से जल्दबाजी में कानून पारित करने पर चिंता जताई है।

यह भी पढ़ें-मॉब लिंचिंग: PM मोदी को लिखे 49 हस्तियों के पत्र के विरोध में कंगना-प्रसून समेत 62 का खुला खत

 

पत्र में विपक्षी सांसदों ने मोदी सरकार पर बिलों को जल्दबाजी में लाने का आरोप लगाया है। सांसदों का आरोप है कि नए लोकसभा के गठन के बाद से कामकाज के नियम टूट गए हैं। सदस्यों को बिलों और संशोधनों के बारे में ठीक से जानने का समय भी नहीं दिया जा रहा है।

इन नेताओं ने लिखा पत्र

 

Gulam nabhi aazad

विपक्षी नेताओं ने केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार सार्वजनिक महत्व और लघु सूचनाओं के विषय पर चर्चा से भाग रही है।

बता दें कि पत्र लिखने वाले नेताओं में समाजवादी पार्टी, डीएमके, सीपीएम, एनसीपी, आरजेडी, बीएसपी, टीडीपी सहित अन्य राजनीतिक दलों के सांसद शामिल हैं। पत्र में सबसे पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ( Ghulam Nabi Azad ) ने हस्ताक्षर किया है।

यह भी पढ़ें-आजम खान ने नहीं मांगी माफी तो स्पीकर सुनाएंगे फैसला

om birla

गौरतलब है कि बजट सत्र शुरू होने से अब तक कई सारे बिल सदन में पेश किए जा चुके हैं। इनमें आरटीआई संशोधन विधेयक और NIA संशोधन विधेयक जैसे बिलों को दोनों सदनों से मंजूरी मिल चुकी है।

वहीं, इसके अलावा जुलाई में खत्म होने वाले बजट सत्र को 10 दिन के लिए और बढ़ा दिया गया है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को मोदी सरकार के अनुरोध पर मौजूदा सत्र को 7 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned