BJP के विरोध पर AAP ने बदला अपना फैसला, शपथ ग्रहण से पहले किया यह फेरबदल

  • अरविंद केजरीवाल रविवार को रामलीला मैदान में तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे
  • केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में शिक्षकों की अनिवार्य उपस्थिति को निमंत्रण में बदला

By: Mohit sharma

Updated: 16 Feb 2020, 11:34 AM IST

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ( AAP ) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ( Arvind kejriwal ) रविवार को रामलीला मैदान ( Ramlila Maidan ) में तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

शपथ लेने से पहले ही दिल्ली की केजरीवाल सरकार हाशिये पर नजर आई। दरअसल, अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में शिक्षकों के शामिल होने की बात सामने आई थी।

इस मुद्दे को लेकर दिल्ली सरकार ( Delhi government ) घेरे में आ गई थी। लेकिन अब सरकार ने अपने फैसले में बड़ा फेरबदल करते हुए शिक्षकों की अनिवार्य उपस्थिति को निमंत्रण में बदल दिया है।

अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में ट्रैफिक रहेगा डायवर्ट, जाने कैसे हैं इंतजाम

 

b_1.png

दिल्ली सरकार की ओर से अब कहा गया है कि रामलीला मैदान में शिक्षकों के प्रवेश दौरान उनकी हाजिरी नहीं लगाई जाएगी।

दरअसल, अब शिक्षकों का शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होना स्वैच्छिक कर दिया गया है। आपको बता दें कि केजरीवाल सरकार ने यह फैसला भारतीय जनता पार्टी ( BJP )के विरोध के बाद लिया गया है।

ट्रंप के भारत दौरे से पहले जैश-ए-मुहम्मद ने जारी किया वीडियो, बदला लेने की धमकी

 

गौरतलब है कि रामलीला मैदान में आयोजि? अरविंद केजरीवाल ?? के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए दिल्ली शिक्षा निदेशालय ( DOI ) की ओर से स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को निमंत्रण दिया था।

डीओई के सर्कुलर में कहा गया था कि रामलीला मैदान में शिक्षकों की एंट्री के दौरान हाजिरी भी ली जाएगी।

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned