सिख दंगों के लिए राजीव गांधी दोषी, सरकार वापस ले भारत रत्न : हिमाचल बीजेपी अध्यक्ष सत्ती

सिख दंगों के लिए राजीव गांधी दोषी, सरकार वापस ले भारत रत्न : हिमाचल बीजेपी अध्यक्ष सत्ती

Chandra Prakash Chourasia | Publish: May, 11 2019 06:55:40 PM (IST) | Updated: May, 11 2019 09:43:00 PM (IST) राजनीति

  • 1984 सिख दंगों पर राजनीतिक जारी
  • अब राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने की मांग
  • सतपाल सिंह सत्ती ने पीएम मोदी से की मांग

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण की वोटिंग से पहले 1984 सिख दंगे ( 1984 anti-Sikh riots ) पर जमकर राजनीति रोटियां सेंकी जा रही हैं। हिमाचल प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ( Rajiv Gandhi ) हजारों सिखों की हत्या के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होनें पूर्व पीएम से देश का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान भारत रत्न ( bharat ratna ) वापस लिए जाने की मांग की है।

TIME मैगजीन नहीं, हिंदुस्तान की जनता चलाती है देश: रविशंकर प्रसाद

राजीव ने कांग्रेसियों को उकसाया: सत्ती

बीजेपी नेता ने कहा कि दिल्ली से लेकर पूरे देश में पांच हजार से ज्यादा सिखों को 1984 में जिंदा जलाया गया। सिख महिलाओं की इज्जत लूटी गई। उनके दुकान और मकान भी लूट लिए गए। इसकी निंदा के जगह राजीव गांधी ने इसे जायज ठहराते हुए कहा था कि जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती कांपती ही है। सत्ती ने कहा कि राजीव ने इस बयान से कांग्रेसियों को सिखों के हत्याकांड और लूटपाट के लिए उकसाया था।

नीतीश कुमार का बयान, किसी पार्टी की इतनी औकात नहीं कि खत्म कर दे आरक्षण

सैम पर साधा निशाना

सत्ती ने कहा कि कांग्रेस इतने बड़े अपराध के लिए देशभक्त सिखों और राष्ट्र से माफी मांगने को तैयार नहीं है। राहुल गांधी के राजनीतिक सलाहकार और कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा कहते हैं कि 84 का दंगा हुआ तो हुआ। ये बेहद शर्मनाक है।

पीएम मोदी से सत्ती ने की अपील

हिमाचल बीजेपी अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की है कि हजारों सिखों के कत्लेआम के 'दोषी' से भारत रत्न वापस लिया जाए। इससे देश की जनता और विशेषकर सिख समुदाय की भावनाओं पर कुछ मरहम लगेगा।

Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned