Bihar Election: NDA के थीम सॉन्ग पर कांग्रेस का गाना लॉन्च, नीतीश सरकार से पूछा- 'का किए हो'?

  • Bihar Election: कांग्रेस (Congress) ने बिहार चुनाव को लेकर लॉन्च किया थीम सॉन्ग (Election Song)
  • NDA के थीम सॉन्ग ‘बिहार में ई बा' के जवाब में कांग्रेस का 'का किए हो'?

By: Kaushlendra Pathak

Updated: 16 Oct 2020, 02:52 PM IST

नई दिल्ली। बिहार में विधानसभा चुनाव ( Bihar Vidhan Sabha Chunav ) को लेकर सियासी गरमाई हुई है। कई दिग्गज नेता इस चुनावी मैदान में कूद चुके हैं। स्टार प्रचारों ने भी उम्मीदवारों के प्रचार शुरू कर दिया है। सत्ता पक्ष और विपक्ष एक-दूसरे के निशाने पर है। इसी कड़ी में कांग्रेस ( Congress) पार्टी ने बिहार चुनाव और नीतीश सरकार ( Nitish Government ) पर निशाना साधते हुए अपना थीम सॉन्ग लॉन्च (Election Song) कर दिया है। कांग्रेस ने NDA के थीम सॉन्ग ‘बिहार में ई बा’ के जवाब में अपना 'का किए हो'? सॉन्ग लॉन्च किया है।

पढ़ें- जानें किस लिए इंडियन आर्मी को करनी पड़ी पाक कमांडर की कब्र की मरम्मत?

कांग्रेस का थीम सॉन्ग लॉन्च

दरअशल, NDA ने बिहार चुनाव और नीतीश सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए अपना थीम सॉन्ग ‘बिहार में ई बा’ गाना लॉन्च किया था। इसी गाने के जवाब में कांग्रेस ने भी अपना थीम सॉन्ग लॉन्च किया है। कांग्रेस ने ‘का किए हो?’ सॉन्ग लॉन्च करते हुए नीतीश सरकार से हिसाब-किताब मांगा है। इस गाने में लाइन है कि मोतिहारी, छपरा, भागलपुर, मुजफ्फरपुर समेत पूरा बिहार सीएम से पूछना चाहता है कि 'का किए हो'? इस गाने के जरिए कांग्रेस पार्टी भ्रष्टाचार, कथित घोटाले, अपराध, बेरोजगारी के बारे में लोगों से बताने की कोशिश कर रही है। इतना थीम सॉन्ग लॉन्च होने के बाद कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से कई ट्वीट किए गए हैं। जिसका थीम रखा गया है '#का किए हो'?

पढ़ें- Bihar Election: चुनावी सरगर्मी के बीच BJP की बड़ी कार्रवाई, 3 पूर्व विधायकों को पार्टी से निकाला

थीम सॉन्ग के जरिए नीतीश सरकार पर निशाना

कांग्रेस ने थीम सॉन्ग को लॉन्च करते हुए लिखा, 'प्रवासी मजदूरों को घर आने से रोक रहे थे। तुम कह रहे थे - प्रवासी आकर कोरोना फैलाएंगे, इसलिए हम हर बिहारी को बिहार के बॉर्डर के उस पार दूसरे राज्य में रूकवाएंगे।पूछ रहा है अब हर बिहारी, जवाब देने की है तुम्हारी बारी। कोरोना संकट में बिहार के लिए तुम, का किए हो? इसके अलावा जो ट्वीट किए गए हैं, उनमें लिखा गया है कि 'सुविधा, संसाधन और सुरक्षा के नाम पर ठेंगा दिखाकर, शिक्षा अधूरी छोड़ने पर मजबूर किये हो। बिहार की छात्रा पूछ रही है- का किये हो? साक्षरता दर में बिहार अंतिम पायदान पर है, 15 साल में बिहार की शिक्षा व्यवस्था को बेहाल किये हो। पूछ रहा है बिहार- शिक्षा के क्षेत्र में का किये हो? सुशासन के नाम पर टूटे पूल, गड्ढों वाली सड़कें और अस्पतालों की जर्जर इमारतें दिये हो। पूछ रहा है बिहार- का किये हो?

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned