scriptBJP and Congress local leaders are waiting for important Decision by Party top leaders in Delhi | दिल्ली दरबार सुस्त! अटके पड़े हैं भाजपा और कांग्रेस नेताओं के मामले | Patrika News

दिल्ली दरबार सुस्त! अटके पड़े हैं भाजपा और कांग्रेस नेताओं के मामले

आगामी विधानसभा चुनाव से पहले दिल्ली दरबार पड़ा सुस्त! भारतीय जनता पार्टी से लेकर कांग्रेस तक, पंजाब से लेकर उत्तराखंड तक नेता कर रहे शीर्ष नेतृत्व के फैसले का इंतजार

नई दिल्ली

Published: July 02, 2021 12:39:58 pm

नई दिल्ली। राजनीतिक दलों की सियासत का रास्ते भले ही दिल्ली दरबार से तय होता हो, लेकिन इन दिनों दिल्ली दरबार कुछ सुस्त नजर आ रहा है। फिर चाहे मामला भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के नेताओं से जुड़ा हो या फिर कांग्रेस ( Congress ) के नेताओं से। दोनों पार्टियों के नेताओं के मामले दिल्ली दरबार में फैसलों के इंतजार में अटके पड़े हैं।
BJP and Congress local leaders are waiting for important Decision by Party top leaders in Delhi
दरअसल अगले वर्ष पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है। इसकी गहमा गहमी अभी से राज्यों में देखने को मिल रही है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत दो दिन से दिल्ली में हैं। शाह और नड्डा से मुलाकात के बाद भी वे अब तक प्रदेश नहीं लौटे। वहीं पंजाब कांग्रेस में कलह का मसला कई बैठकों के बाद भी अब तक नतीजे पर नहीं पहुंचा है।
यह भी पढ़ेंः शशि थरूर ने सीखा अंग्रेजी का नया शब्द Pogonotrophy, मतलब समझाते हुए पीएम मोदी से किया कनेक्ट

557.jpgसत्तारूढ़ भाजपा और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस से जुड़े अहम सियासी फैसले दिल्ली दरबार में अटके हुए हैं। सबकी निगाहें दिल्ली पर लगी हैं। गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को गुरुवार की शाम देहरादून लौटना था। लेकिन उनका कार्यक्रम टल गया।
सीएम खेमे की मानें तो तीरथ सिंह रावत उपचुनाव में जाएंगे। हालांकि अब तक केंद्र की ओर से दिशा निर्देशों को लेकर स्थिति साफ नहीं है। माना जा रहा है कि दो-तीन दिन में पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व कोई बड़ा फैसला ले सकता है।
उधर, कांग्रेस में भी नेता प्रतिपक्ष के नाम के एलान का इंतजार है। पार्टी के वरिष्ठ नेता हरीश रावत व प्रीतम सिंह समेत अन्य विधायकों ने केंद्रीय नेताओं के साथ जमकर मंथन किया। लेकिन फैसला दिल्ली दरबार यानी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर छोड़ दिया है।
फैसले तक प्रीतम दिल्ली में ही जमे हैं। प्रीतम नेता प्रतिपक्ष बने तो उन्हें कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का पद छोड़ना होगा। ऐसे में केंद्रीय नेतृत्व के सामने प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर मुहल लागने की जिम्मेदारी है।
558.jpgपंजाब का मसला भी अटका
दिल्ली दरबार में कांग्रेस का एक और बड़ा मसला अटका हुआ है। वो है पंजाब कांग्रेस में कलह। हालांकि ये नई नहीं है, लेकिन चुनाव से पहले इसको निपटाना अब दिल्ली दरबार के लिए बहुत जरूरी हो गया है। कैप्टन अमरिंदर से लेकर नवजोत सिंह सिद्धू तक तमाम छोटे बड़े नेता दिल्ली दरबार में हाजिरी लगा चुके हैं।
अब हर किसी को इस मुद्दे पर केंद्रीय नेतृत्व की ओर से फैसले का इंतजार है।
राहुल से मिल सकते हैं अमरिंदर
सिद्धू के दिल्ली दौरे के बाद सीएम अमरिंदर भी एक्टिव हो गए हैं। गुरुवार को उन्होंने लंस डिप्लोमेसी के जरिए नेताओं और विधायकों से मन की बात कही। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि जल्द ही कैप्टन राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं।
यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड में AAP का बड़ा ऐलान, सीएम तीरथ सिंह रावत के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे कर्नल अजय कोठियाल

ये तो नहीं सुस्ती की वजह
दरअसल विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों का नेतृत्व किसी भी तरह की गलती नहीं चाहता है। स्थानीय स्तर पर चल रही गुटबाजी से निपटने और सभी नेताओं को साथ लेकर चलने की नीति के चलते फैसलों में देरी हो रही है। जल्दबाजी में केंद्रीय नेतृत्व एक को खुश और दूसरे को नाराज कर चुनाव में किसी भी तरह के नुकसान का रिस्क नहीं ले सकता।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.