टिकट कटने पर छलका उदित राज का दर्द, फिर नाम के आगे लगाया 'चौकीदार'

टिकट कटने पर छलका उदित राज का दर्द, फिर नाम के आगे लगाया 'चौकीदार'

Kaushlendra Pathak | Publish: Apr, 23 2019 01:47:37 PM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 04:11:57 PM (IST) राजनीति

  • ट्विटर पर बार-बार अपना नाम बदल रहे हैं उदित राज
  • टिकट कटने से नाराज हैं भाजपा सांसद
  • 'चौकीदार डॉ. उदित राज' से बन गए थे 'डॉक्टर उदित राज', फिर बने 'चौकीदार डॉ. उदित राज'

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने दिल्ली की उत्तर पश्चिमी सीट से वर्तमाम सांसद उदित राज (Udit Raj) का टिकट काट दिया है। उदित राज के बदले पार्टी ने सूफी सिंगर हंस राज हंस को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। इस ऐलान के साथ ही सांसद उदित राज काफी नाराज हो गए हैं। उन्होंन ट्विटर पर अपने नाम के आगे से 'चौकीदार' हटा लिया था। लेकिन, कुछ ही समय बाद एक बार फिर उन्होंने अपने नाम के आगे 'चौकीदार' लगा लिया है।

उदित राज का छलका दर्द

मीडिया से बात करते हुए उदित राज ने कहा कि मैं समझ नहीं पा रहा कि मेरे साथ ऐसा क्यों हुआ? हालांकि, उन्होंने कहा कि मुझे कुछ कारण समझ आ रहे, मसलन 2 अप्रैल 2018 को जब भारत बंद दलितों ने किया, उसका मैंने समर्थन किया, क्या मुझे उसकी सजा मिल रही है? 3 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट सीलिंग के खिलाफ रामलीला मैदान में जो हुआ, उसका मैंने समर्थन किया। क्या वो मेरी गलती थी? मैं दलितों के खिलाफ आवाज उठाता रहा, इसकी सजा मुझे मिली है।

 

पार्टी छोड़ने की दी है धमकी

भाजपा ने दिल्ली की सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। लेकिन, उदित राज के नाम पर संशय बना हुआ था। आखिरी वक्त में भाजपा ने उत्तर पश्चिमी सीट से हंस राज हंस को अपना उम्मीदवार घोषित किया। गौरतलब है कि दिल्ली में नामांकन के लिए मंगलवार आखिरी दिन है। इससे पहले सुबह से ही उदित राज ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था। उन्होंने ट्विटर पर धमकी दी थी कि अगर अगर उनका टिकट कटा तो वह पार्टी छोड़ देंगे।

 

दलित नेता हैं उदित राज

उन्होंने यहां तक कहा था कि मेरे टिकट का नाम देरी होने पर पूरे देश में मेरे दलित समर्थकों में रोष है और जब मेरी बात पार्टी नहीं सुन रही तो आम दलित कैसे इंसाफ पाएगा। हालांकि, उदित राज ने यह साफ नहीं किया है कि वह किस पार्टी में जाएंगे। अब देखना यह है कि सच में उदित राज भाजपा छोड़कर किसी और पार्टी का दामन थामते हैं या कुछ और निर्णय लेते हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned