NRC के खिलाफ उद्धव ठाकरे, बोले- महाराष्ट्र में नहीं लागू होगा यह कानून

  • NRC और CAA को लेकर महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के ऐलान ने हलचल पैदा कर दी
  • ठाकरे बोले- NRC से हिंदुओं और मुसलमान के लिए नागरिकता साबित करना मुश्किल होगा

By: Mohit sharma

Updated: 02 Feb 2020, 01:11 PM IST

नई दिल्ली। राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर ( NRC ) और नागरिकता संशोधन अधिनियम ( CAA ) को लेकर देश में मच रहे घमासान के बीच महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( CM Uddhav Thackeray ) के ऐलान ने हलचल पैदा कर दी है।

CM उद्धव ठाकरे ने कहा है कि अगर NRC लागू किया गया तो हिंदुओं और मुसलमान दोनों के लिए नागरिकता साबित करना मुश्किल होगा।

उद्धव ने कहा कि वह ऐसा नहीं होने देंगे।

दिल्ली में ठंड के साथ कोहरे का असर बरकरार, 12 ट्रेनें लेट

 

c2.png

दरअसल, उद्धव ठाकरे का यह बयान ऐसे समय आया है, जब राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग समेत देश की अलग-अलग जगहों पर सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी हैं।

यहां प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि सीएए मुस्लिमों के न केवल खिलाफ है, बल्कि धर्म के आधार पर लोगों में भेदभाव पैदा करता है।

Corona Virus: चीन से अपने नागरिकों को वापस ला रही भारत सरकार, दिल्ली पहुंचे 323 यात्री

 

c1.png

चीन के बाद भारत में भी कोरोनावायरस, केरल में दूसरे मामले की पुष्टि

आपको बता दें कि शिवसेना ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पर केंद्र सरकार का समर्थन किया था। जबकि राज्यसभा में शिवसेना ने कैब को लेकर वॉक आउट किया था।

हालांकि दोनों सदनों से ग्रीन सिग्नल मिलने के बाद नागरिकता संशोधन विधेयक कानून बन गया।

 

CAA protest
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned