इधर Rafale Fighter पहुंचा भारत, उधर Rahul Gandhi ने दाग दी तीन 'मिसाइलें'

  • कांग्रेस ( Congress ) सांसद राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने एक बार फिर रफाल सौदे ( Rafale deal ) पर उठाए सवाल।
  • कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ( Randeep Singh Surjewala ) ने भी केंद्र सरकार ( Modi government ) से मांगे जवाब।
  • 2019 लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने रफाल सौदे ( Rafale fighter jets ) पर चलाया था अभियान।

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ( Congress ) के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने एक बार फिर रफाल सौदे ( Rafale deal ) को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार ( Modi government ) को घेरने की कोशिश की है। राहुल गांधी ने बुधवार को ठीक उस दिन मोदी सरकार से तीन सवालों के जवाब मांगे, जिस दिन भारत में पांच रफाल फाइटर जेट विमानों ( Rafale fighter jets ) की पहली खेप पहुंची। इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी सरकार से रफाल डील को लेकर सवाल पूछे थे।

अनलॉक 3.0 में भी कई जगहों पर लागू रहेगा लॉकडाउन, गृह मंत्रालय ने जारी किए सभी दिशा-निर्देश

जिस वक्त बुधवार को पूरे देश में पांच रफाल फाइटर जेट के भारत आने की खबरें जोर-शोर से पढ़ी जा रही थीं, राहुल गांधी ( rahul gandhi on Rafale deal ) ने ट्वीट कर पूछा, "रफ़ाल विमान के लिए IAF को बधाई। लेकिन क्या सरकार इन सवालों के जवाब देगी:

1) प्रत्येक विमान की क़ीमत ₹526 करोड़ की बजाए ₹1670 करोड़ क्यों दी गयी?

2) 126 की बजाए सिर्फ़ 36 विमान ही क्यों ख़रीदे?

3) HAL की बजाए दिवालिया अनिल को ₹30,000 करोड़ का कांट्रैक्ट क्यों दिया गया?"

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ( Randeep Singh Surjewala ) ने भी ट्विटर के जरिये केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए रफाल सौदे को लेकर सवाल किए, "रॉफेल का भारत में स्वागत! वायुसेना के जाबाँज लड़ाकुओं को बधाई।

आज हर देशभक्त ये ज़रूर पूछे-:
1. ₹526 करोड़ का एक रॉफेल अब ₹1670 करोड़ में क्यों?
2. 126 रॉफेल की बजाय 36 ही क्यों?
3. मेक इन इंडिया की बजाय मेक इन फ़्रान्स क्यों?
4. 5 साल की देरी क्यों?"

इससे पहले पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने 36 रफाल फाइटर जेट खरीद के लिए 59,000 करोड़ रुपये के सौदे में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे और 2019 के लोकसभा चुनाव अभियान के दौरान मोदी सरकार को बार-बार घेरने की कोशिश की थी।

हालांकि राहुल गांधी का रफाल को लेकर चलाया गया अभियान मतदाताओं का समर्थन हासिल करने में विफल रहा और कांग्रेस केवल 52 लोकसभा सीटों को हासिल करने में सफल रही। सुप्रीम कोर्ट ने 14 दिसंबर 2018 को रफाल सौदे की जांच की मांग वाली याचिका भी खारिज कर दी थी।

NEP2020: छठी कक्षा में कोडिंग, संस्कृत पर जोर, Board Exam समेत स्कूली शिक्षा में बदलाव की पूरी जानकारी

कांग्रेस नेता ने रफाल के लिए भारतीय वायु सेना (IAF) को बधाई दी। बता दें कि पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे सीमा गतिरोध के बीच भारत को आज पांच रफाल जेट प्राप्त हुए, जो निश्चित रूप से भारतीय वायुसेना की लड़ाकू क्षमता को बढ़ावा देंगे।

Congress
Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned