महाराष्ट्र: भाजपा का तंज- 6 माह से ज्यादा नहीं चलेगी कांग्रेस, NCP और शिवसेना की सरकार

  • महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन होने के बाद भी सरकार के गठन के लिए रस्साकसी जारी
  • कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और शिवसेना महाराष्ट्र बनाने की पुरजोर तैयारी में जुटे
  • फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार के अलावा अन्य कोई दूसरा विकल्प नहीं

Mohit sharma

November, 1508:12 AM

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद भी नई सरकार के गठन के लिए रस्साकसी जारी है। कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और शिवसेना महाराष्ट्र बनाने की पुरजोर तैयारी में जुटे हैं।

वहीं, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने तीनों दलों पर निशाना साधा है। फडणवीस ने कहा कि अगर ये तीनों मिलकर सरकार बनाने में कामयाब होते हैं तो वो सरकार 6 महीने भी नहीं चलने वाली।

फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार के अलावा अन्य कोई दूसरा विकल्प नहीं है। आपको बता दें कि फडनवीस ने यह बातें उस समय कही जब वह भाजपा विधायकों की बैठक ले रहे थे।

महाराष्ट्र: शिवसेना ने भाजपा को याद दिलाया भूला वादा, शाह ने बाला साहब के कमरे में दिया था वचन

 

a2.png

दरअसल, महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के बाद सियासी सरगर्मी और तेज हो गई है। कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना ने सरकार बनाने के प्रयास में जुटे हैं।

इसी क्रम में गुरुवार को तीनों ही पार्टियों के नेताओं ने बैठक की। फिलहाल तीनों पार्टियां न्यूनतम साझा कार्यक्रम के लिए तैयार हैं। वहीं, भाजपा ने चुनाव पूर्व गठबंधन के बाद भी सरकार न बनाने में असमर्थता प्रकट की है।

महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा कि शिवसेना ने जनादेश का अपमान किया है।

उन्होंने कहा कि अगर शिवसेना अन्य दो दलों के साथ सरकार बनाना चाहती है तो वह उसको पार्टी की ओर से शुभकामनाएं भेजते हैं।

महाराष्ट्र सियासी संघर्ष पर बोले अमित शाह- शिवसेना से हुई बातें नहीं कर सकते सार्वजनिक

 

a1.png

आपको बता दें कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था।

जेपी नड्डा ने ली भाजपा महासचिवों की बैठक, महाराष्ट्र में सियासी उठापटक पर चर्चा

लेकिन भाजपा ने सरकार बनाने में असमर्थता जता दी थी, जिसके बाद राज्यपाल ने शिवसेना और फिर एनसीपी को आमंत्रण दिया।

इस बीच सरकार न बनाने की स्थिति देख राज्यपाल की सिफारिश पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महाराष्र्ट में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया।

a5.png
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned