शरद पवार से मुलाकात के बाद प्रशांत किशोर का बड़ा बयान, लगता नहीं तीसरा-चौथा मोर्चा BJP को दे सकता है चुनौती

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एक टीवी इंटरव्यू में बताया कि मैं नहीं मानता कि कोई तीसरा या चौथा मोर्चा मौजूदा व्यवस्था के लिए सफलतापूर्वक चुनौती बनकर उभर सकता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को कोई मोर्चा मुकाबला दे पाए, ये मुश्किल ही लगता है।

By: Shaitan Prajapat

Published: 22 Jun 2021, 12:49 PM IST

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के खिलाफ 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर पिछले कुछ दिनों तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर अटकलों तेज है। इन अटकलों के बीच चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बड़ा बया दिया है। प्रशांत किशोर ने अगले लोकसभा चुनाव में किसी तीसरे या चौथे फ्रंट द्वारा बीजेपी को हराने की संभावना को खारिज कर दिया है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से पीके राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार एक के बार एक मुलाकात कर रहे है।

तीसरा मोर्चा मॉडल आजमाया हुआ और पुराना
चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एक टीवी इंटरव्यू में बताया कि मैं नहीं मानता कि कोई तीसरा या चौथा मोर्चा मौजूदा व्यवस्था के लिए सफलतापूर्वक चुनौती बनकर उभर सकता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को कोई तीसरा-चौथा मोर्चा मुकाबला दे पाए, ये मुश्किल ही लगता है। किशोर का मानना है कि तीसरा मोर्चा मॉडल जांचा-परखा हुआ है आजमाया हुआ और पुराना है। यह मौजूदा राजनीतिक हालात के अनुकूल नहीं है।

यह भी पढ़ें:— शिवसेना-कांग्रेस के बीच बढ़ रही तकरार! उद्धव ठाकरे का तंज, कहा- अकेले चुनाव लड़ोगे तो लोग जूतों से पीटेंगे

सभी विपक्ष दल बीजेपी के खिलाफ
माना जा रहा है कि प्रशांत किशोर और एनसीपी चीफ शरद पवार की मुलाकात के पीछे तीसरा मोर्चा ही है। अगले लोकसभा चुनाव में सभी विपक्षी दल एकसाथ मिलकर बीजेपी के खिलाफ लड़ने की योजना बना रहे है। जिसकी अगुवाई शरद पवार कर सकते हैं। हालांकि, प्रशांत किशोर ने ऐसी अटकलों को भी खारिज किया। मुलाकातों पर पीके ने कहा कि दोनों लोग एक-दूसरे को बेहतर से जानने के लिए मिल रहे हैं।

यह भी पढ़ें:— शरद पवार के नेतृत्व में राष्ट्र मंच की अहम बैठक, बीजेपी ने बताया मुंगेरीलाल के सपने

10 दिन में दूसरी मुलाकात
आपको बता दे कि सोमवार को शरद पवार ने प्रशांत किशोर से दस दिनों में दूसरी बार मुलाकात की है। पहले 11 जून को पुणे में दोनों के बीच मुलाकात हुई थी। इसके बाद 21 जून किशोर से मिलने पवार दिल्ली में हुई है। यह मुलाकात मंगलवार को होने वाली राष्ट्र मंच की बैठक से ठीक पहले हुई तो इसके सियासी मायने भी निकाले गए।

BJP
Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned