LIVE BLOG: धारा 370 पर लोकसभा में घमासान, अधीर रंजन के बयान से फंसी कांग्रेस!

LIVE BLOG: धारा 370 पर लोकसभा में घमासान, अधीर रंजन के बयान से फंसी कांग्रेस!

Kaushlendra Pathak | Updated: 06 Aug 2019, 04:47:35 PM (IST) राजनीति

  • Jammu And Kashmir Reorganization Bill Updates
  • बीजेपी और कांग्रेस ने सांसदों को जारी किया व्हिप
  • सोमवार को राज्यसभा से पास हुआ जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल

नई दिल्ली। मोदी सरकार 2.0 ने जम्मू-कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक फैसला लिया है। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज लोकसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल पेश किया। इस बिल के पेश होते ही कांग्रेस नेताओं ने हंगामा शुरू कर दिया है। लोकसभा से बिल पास होने के बाद यह प्रस्ताव लागू हो जाएगा। गौरतलब है कि सोमवार को राज्यसभा से जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को पास कराया गया है।

पढ़ें- राज्यसभा में गरजे अमित शाह, पांच साल दे दो कश्मीर बदल देंगे

 

 

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल का जमकर विरोध किया। बिल के जवाब में जवाब में अधीर रंजन ने कहा कि 1948 से लेकर अभी तक जम्मू-कश्मीर के मसले पर संयुक्त राष्ट्र (UN) निगरानी कर रहा है, ऐसे में ये आंतरिक मामला कैसे हो सकता है। इस दौरान सोनिया गांधी अधीर रंजन के बगल में बैठकर ये सब देख रही थीं और उनकी बात सुन रही थीं। लेकिन, इस बयान को सुनते ही सोनियां गांधी चौंक गई और पंक्ति में बैठे दूसरे नेताओं को इशारा भी किया। कहा यह भी जा रहा है कि अधीर रंजन चौधरी के इस बयान से सोनिया गांधी नाराज भी हो गईं और उनसे बात भी की।

 

- मनीष तिवारी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के संविधान का क्या होगा? क्या सरकार उस संविधान को खारिज करने के लिए भी विधेयक लेकर आएगी। सरकार ने संवैधानिक पहलुओं पर विचार ही नहीं किया।

- अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस स्पष्ट करे कि वह अनुच्छेद हटाने के पक्ष में है या नहीं।

- बीजेपी सांसद जुगल किशोर शर्मा ने कहा कि नेहरू की वजह से यह धारा 370 का कलंक हमारे ऊपर लगा है।

- मनीष तिवारी ने कहा कि बगैर संविधान सभा की इजाजत के धारा 370 को खारिज नहीं किया जा सकता, जो आज मौजूद नहीं है।

- मनीष तिवारी ने कहा कि पंडित नेहरू कदम उठाकर कश्मीर को अभिन्न अंग बनाया। उस विलय के साथ कुछ वादे में किए गए थे, जिसमें दिल्ली का करार भी शामिल है।

- धारा 370 पर लोकसभा में घमासान जारी है। अमित शाह ने विपक्षी नेताओं से कहा कि हम हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हम शांत माहौल में चर्चा चाहते हैं क्योंकि घाटी समेत पूरा देश और दुनिया हमें देख रही है।

- कश्मीर मतलब पीओके और अक्साई चिन भी शामिल : शाह

- मैं विपक्ष के हर सवाल पर जवाब देने को तैयारःशाह

- संसद को जम्मू-कश्मीर पर कानून बनाने का हकः शाह

- पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग हैः शाह

- कश्मीर पर कांग्रेस अपना रुख साफ करे: शाह

- अमित शाह और कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के बीच तीखी बहस

- जम्मू-कश्मीर बोल रहा हूं तो उसमें PoK भी हैः शाह

- जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है: शाह

लोकसभा में सरकार के पास पूर्ण बहुमत है, ऐसे में निचले सदन से इस बिल को पास कराने में सरकार को कोई दिक्कत नहीं होगी। इस बिल को लेकर बीजेपी ने अपने सभी सांसदों को व्हिप जारी कर सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा है। वहीं, कांग्रेस ने भी व्हिप जारी कर लोकसभा में सभी सांसदों को उपस्थित रहने के लिए कहा है। गौरतलब है कि राज्यसभा में इस बिल को लेकर पूरा विपक्ष अलग-थलग नजर आया।

file photo

कांग्रेस ने किया बिल का विरोध

राज्यसभा में कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल का जमकर विरोध किया। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि जिस तरह से इस बिल को लागू किया जा रहा है वह लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन है। पीडीपी के सांसदों ने संविधान तक फाड़ डाले और मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लेकिन, सरकार राज्यसभा से इस बिल को पास कराने में कामयाब रही। इस बिल के पक्ष में 125 वोट पड़े जबकि विरोध में 61 सदस्यों ने वोटिंग की।

बसपा, बीजेडी, AIADMK, YSR कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने इस बिल का समर्थन किया है। वहीं, बीजेपी के सहयोगी दल जेडीयू ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल का विरोध किया है।

पढ़ें- आर्टिकल 370 हटाने के बाद हिरासत में महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला

 

file photo

आज कश्मीर जाएंगे अजीत डोभाल

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद सियासत गर्म है। घाटी में किसी तरह का प्रदर्शन ना हो और कोई दिक्कत सामने ना आए इसके लिए काफी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं। वहीं, NSA अजित डोभाल भी राज्य के हालात का जायजा लेने के लिए आज श्रीनगर जाएंगे। घाटी में अभी भी हजारों की संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं और अगले आदेश तक वहां ही रहेंगे। इधर, सोमवार शाम को पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती और एनसी नेता उमर अब्दुल्ला को हिरासत में ले लिया गया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned