scriptmamata banerjee said - ready to touch the feet of the PM for the betterment of the public | West Bengal: ममता बोलीं- जनता की भलाई के लिए प्रधानमंत्री के पैर छूने को भी तैयार | Patrika News

West Bengal: ममता बोलीं- जनता की भलाई के लिए प्रधानमंत्री के पैर छूने को भी तैयार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुलाकात ने एक बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा कर दिया है।

नई दिल्ली

Updated: May 29, 2021 06:29:01 pm

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee ) की मुलाकात ने एक बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा कर दिया है। सीएम ममता ने फिलहाल इस मामले को लेकर शनिवार को सफाई दी है। ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को इंतजार नहीं कराया, बल्कि उनको खुद उनसे मिलने के लिए इंतजार करना पड़ा। हालांकि इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि बैठक में उनको नीचा दिखाए जाने की योजना थी।

untitled_2.png

महाराष्ट्र: पुणे में कम होने लगे कोरोना के केस तो सरकार ने लॉकडाउन में दी ढील, अब ऐसे खुलेंगी दुकानें

प्रधानमंत्री के पैर छूने को भी तैयार

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि जनता की भलाई के लिए और उनके अहम को शांत करने के लिए वह प्रधानमंत्री के पैर छूने को भी तैयार हैं। इस दौरान ममता बनर्जी ने केंद्र से पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय का दिल्ली ट्रांसफर रोकने का भी अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि कोई भी ऐसा कदम नहीं उठाया जाना चाहिए, जिससे देश के नौकरशाहों का अपमान होता है। ममता बनर्जी ने बैठक में देर से पहुंचने पर कहा कि जब हम बैठक में शामिल होने पहुंचे तो हमसे कहा गया कि बैठक चल रही है और प्रधानमंत्री भी कुछ देर पहले पहुंच चुके हैं। ममता बनर्जी ने आगे कहा कि जब उन्होंने बैठक में जाना चाहा तो उनको यह कहकर रोक दिया गया कि एक घंटे तक कोई भी भीतर नहीं जा सकता।

अरुणाचल प्रदेश में कोरोना का कहर जारी, 7 जिलों में सात जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन

सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि वह काफी देर तक इंतजार करती रहीं, फिर बाद में उनको बताया गया कि बैठक कॉन्फ्रेंस हॉल में शिफ्ट हो गई है। जब वह मुख्य सचिव के साथ वहां पहुंची तो देखा कि प्रधानमंत्री राज्यपाल, केंद्रीय नेताओं और विपक्षी दल के विधायकों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने बैठक के आयोजन को लेकर राजनीतिक बदला लेने का भी आरोप लगाया। वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने आरोपों का खंडन किया। पार्टी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा, "किसी भी तरह के विवाद के लिए कोई जगह नहीं है। यह प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के बीच एक बैठक थी। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की और उन्हें तूफान से हुए नुकसान का विवरण सौंपा। मामला समाप्त होता है।"

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.